बांग्लादेश में काली मंदिर पहुंच PM मोदी ने की पूजा, बंगाल चुनाव में वोटरों को साधने की कोशिश?

पीएम मोदी के बांग्लादेश के मंदिर में पूजा अर्चना करने को पश्चिम बंगाल चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. आज पश्चिम बंगाल में पहले चरण में 30  विधानसभा सीटों पर वोटिंग हो रही है. इनमें से अधिकतर सीटें एक समय नक्सल प्रभावित रहे जंगलमहल इलाके में आती हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने दो दिवसीय बांग्लादेश दौरे के दूसरे दिन आज  दक्षिण-पश्चिम के ईश्वरीपुर गांव स्थित प्राचीन जेशोरेश्वरी काली मंदिर में पूजा अर्चना की. उन्होंने खुद ट्वीट कर पूजा का एक वीडियो साझा किया है. उन्होंने लिखा है, "जेशोरेश्वरी काली मंदिर में पूजा कर अभिभूत हूं." इस दौरान उन्होंने समस्त मानव जाति के कल्याण की कामना की.

पीएम नरेंद्र मोदी ने मां काली को एक मुकुट, साड़ी व अन्य पूजन सामग्रियां भी अर्पित की और अंत में मंदिर की परिक्रमा भी की. चांदी से निर्मित इस  'मुकुट' पर सोने की परत चढ़ाई गई है. इसे एक पारंपरिक कारीगर द्वारा तीन सप्ताह में हाथ से बनाया गया है. मंदिर परिसर में पहुंचने पर प्रधानमंत्री का स्वागत शंख बजाकर, तिलक लगाकर और अन्य पारंपरिक तरीकों से किया गया. इसके बाद प्रधानमंत्री ने विधि-विधान से मां काली की पूजा अर्चना की.

पीएम का बरीसाल जिले के सुगंधा शक्तिपीठ जाने का भी कार्यक्रम है. सुगंधा शक्तिपीठ हिन्दुओं की आस्था से जुड़ा अहम केंद्र और 51 शक्तिपीठों में से एक है. इसके अलावा PM बांग्लादेश में मतुआ समुदाय के संस्थापक हरिचंद्र ठाकुर के ठाकुरबाड़ी यानी ओरकांडी मंदिर भी जाएंगे. माना जा रहा है कि पीएम मोदी इसके जरिए बांग्लादेश में हिन्दू मताबलंबियों को अपना जमसमर्थन देने की कोशिश करेंगे.

चुनाव से ऐन पहले मंदिर क्यों पहुंच जाते हैं PM मोदी? क्या है बंगाल चुनाव से कनेक्शन?

पीएम मोदी के बांग्लादेश के मंदिर में पूजा अर्चना करने को पश्चिम बंगाल चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. आज पश्चिम बंगाल में पहले चरण में 30  विधानसभा सीटों पर वोटिंग हो रही है. इनमें से अधिकतर सीटें एक समय नक्सल प्रभावित रहे जंगलमहल इलाके में आती हैं.

माना जा रहा है कि ओरकांडी मंदिर जाकर पीएम मतुआ समुदाय को भी साधने की कोशिश करेंगे जिनकी बंगाल में दो करोड़ के करीब आबादी है. उत्तरी 24 परगना, दक्षिणी 24 परगना, न्यू जलपाईगुड़ी, नादिया और आसपास के जिलों एवं बांग्लादेश के सीमावर्ती जिलों की लगभग 30-40  विधानसभा सीटों और सात लोकसभा सीटों पर मतुआ समुदाय का वोट बैंक चुनावों में हार-जीत तय करता है.


असम और बंगाल के मतदाताओं से PM मोदी ने की अपील, रिकॉर्ड नंबर में करें मतदान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वैसे यह पहली बार नहीं है, जब वोटिंग के वक्त प्रधानमंत्री किसी मंदिर में गए हों. 2018 में कर्नाटक विधान सभा चुनाव के दिन पीएम नेपाल के सीता मंदिर पहुंचे हुए थे. इसी तरह 2019 में लोकसभा चुनाव के वक्त वह केदारनाथ की गुफा में ध्यान लगा रहे थे.