Coronavirus का टीका जुलाई तक 25 करोड़ लोगों को उपलब्ध कराएंगे : हर्षवर्धन

देश में कोरोना(Coronavirus) के टीकाकरण की तैयारियों को लेकर तमाम अटकलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भरोसा दिया है कि अक्तूबर के अंत तक पूरा खाका तैयार कर लिया जाएगा. जुलाई 2021 के अंत तक करीब 25 करोड़ लोगों के टीकाकरण की व्यवस्था हो जाएगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने 'संडे संवाद' कार्यक्रम के दौरान रविवार को ऐसे ही तमाम सवालों के जवाब दिए. पेश हैं अंश...

Coronavirus का टीका जुलाई तक 25 करोड़ लोगों को उपलब्ध कराएंगे : हर्षवर्धन

संडे संवाद कार्यक्रम के दौरान सवालों का जवाब देते केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन

नई दिल्ली:

देश में कोरोना (Coronavirus) के टीकाकरण की तैयारियों को लेकर तमाम अटकलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लोगों को भरोसा दिया है कि अक्तूबर के अंत तक पूरा खाका तैयार कर लिया जाएगा. जुलाई 2021 के अंत तक करीब 25 करोड़ लोगों के टीकाकरण (Vaccination) की व्यवस्था हो जाएगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने 'संडे संवाद' कार्यक्रम के दौरान रविवार को ऐसे ही तमाम सवालों के जवाब दिए. पेश हैं अंश...

बिना डॉक्टरी सलाह के विटामिन न लें

immunity boosters कोरोना से रक्षा के साइंटिफिक प्रूफ के सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह इम्यूनिटी तो बढ़ाते हैं लेकिन इनके व्यापक असर होते हैं और इस तरह की दवा की सटीक भूमिका अभी तक समझ में नहीं आ पाई है. कोरोना से बचाव के लिए विटामिन की गोलियों पर उन्होंने कहा कि कोई भी दवा बिना डॉक्टरी सलाह के कभी ना लें. विटामिन सी हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करके रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है. लेकिन कुदरती आहार के माध्यम से शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति एक सर्वोत्तम और बेहतर तरीका है.

यह भी पढ़ें-कोरोना वैक्सीन के लिए 80000 करोड़ के आंकड़े से सहमत नहीं : केंद्र सरकार

अंग निकाले जाने की बात कोरी अफवाह

पंजाब में कोवि़ड के बहाने मरीजों के अंग निकाले जाने की अफवाह पर उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण मरने वालों को कोई छू भी नहीं सकता है. विशेष देखरेख में अंतिम क्रिया कर्म के लिए भेजा जाता है. अंगों के निकाले जाने का तो सवाल ही नहीं उठता. पोलियो और रूबेला वैक्सीन के दौरान भी यही अफवाह फैली थी और लोगों ने हमारी टीमों का विरोध किया था. रूसी वैक्सीन SPUTNIK-V का सीधे तीसरे चरण का ट्रायल भारत में कराने के सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार इस बारे में कोई भी फैसला देश की जनता को ध्यान में रखकर लेगी. 

यह भी पढ़ें- कमआय वाले देशों के लिए अब 20 करोड़ वैक्सीन बनाएगी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया

त्योहारों के आयोजनों पर राज्य फैसला लेंगे

दुर्गा पूजा और दशहरा में सार्वजनिक पूजा पंडालों को अनुमति देने या डांडिया और गरबा के आयोजनों पर भी डॉ. हर्षवर्धन से सवाल पूछा गया. इस पर उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि जान है तो जहान है. पर्व और त्योहार का आनंद तभी है, जब हम सब स्वस्थ रहें. पूजा पंडालों को अनुमति देने की तो इस पर राज्य सरकारों को फैसला लेना है. 

ऑनलाइन क्लॉस की समयसीमा तय

ऑनलाइन क्लास के कारण बच्चों की सेहत खासकर आंखों पर प्रतिकूल असर पड़ने का मुद्दा भी एक यूजर्स ने उठाया. केंद्रीय मंत्री ने माना कि छोटे बच्चों को कई घंटे ऑनलाइन पढ़ाई करनी पड़ रही. इससे उनके स्वास्थ्य पर विपरीत असर हो रहा है. केंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने समयसीमा तय कर डिजिटल एजुकेशन पर गाइडलाइंस जारी की हैं.


प्लाज्मा दान को लेकर डर दूर करना होगा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्लाज्मा(Plasma) दान करने वालों की कमी पर उन्होंने बताया कि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने चुनिंदा संस्थानों को को ही प्लाजमा थेरेपी के ट्रायल की मंजूरी दी है. उन्होंने माना कि भारत में कोरोना मरीज़ों के लिए प्लाज्मा डोनर को तलाशना मुश्किल काम है क्योंकि कोरोना से ठीक हो चुके लोग प्लाज्मा डोनेट करने के लिए अभी इतने उत्साह से आगे नहीं आ रहे हैं. इसके लिए सबसे पहले लोगों के मन में बैठे डर को दूर करना होगा.