'Auction' के लिए मुस्लिम महिलाओं की फोटो ऐप पर की अपलोड, भड़का गुस्सा, जांच में जुटी पुलिस

इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया जताते हुए मुंबई पुलिस ने कहा कि उसने मामले का संज्ञान लिया है और संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई करने के लिए कहा गया है.

नई दिल्ली:

सुल्ली बाई ऐप का विवाद अभी थमा भी नहीं था कि एक बार फिर ठीक उसी तरह का एक मामला सामने आया है. एक ऑनलाइन ऐप ( online app) पर दोबारा मुस्लिम महिलाओं ( Muslim Women) की फोटो  कथित 'ऑक्शन' को लेकर अपलोड की गई हैं.  शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने शनिवार को कहा कि होस्टिंग प्लेटफॉर्म गिटहब का इस्तेमाल करते हुए सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें एक ऐप पर अपलोड की गई हैं. चतुर्वेदी ने कहा कि उन्होंने इस मामले को मुंबई पुलिस के सामने उठाया है और मांग की है कि दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाना चाहिए.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ (मैंने) मुंबई पुलिस आयुक्त और पुलिस उपायुक्त (अपराध) रश्मि करांदिकर जी से बात की है. वे इसकी जांच करेंगे. (मैंने) महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) से भी हस्तक्षेप करने के लिए बात की है. उम्मीद है कि इस तरह की गलत साइट के पीछे जो लोग हैं उन्हें पकड़ा जाएगा. '' उन्होंने कहा, ‘‘मैंने सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री माननीय अश्विनी वैष्णव जी उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का कई बार आग्रह किया जो सुल्लीडील्स जैसे प्लेटफार्म के जरिये महिलाओं को निशाना बना रहे हैं.  शर्म की बात है कि इसे नजरअंदाज किया जा रहा है. ''

इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया जताते हुए मुंबई पुलिस ने कहा कि उसने मामले का संज्ञान लिया है और संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई करने के लिए कहा गया है.  एक अधिकारी ने कहा कि मुंबई साइबर पुलिस ने आपत्तिजनक सामग्री के संबंध में जांच शुरू कर दी है. बता दें कि इससे पहले पिछले साल सुल्ली बाई ऐप (Sulli Bai app) पर 'सुल्ली डील्स' (Sulli Deals)को लेकर विवाद पैदा हुआ . सुल्ली डील में महिलाओं की तस्वीर डालकर 'डील ऑफ द डे' लिखा गया था.  बुल्ली बाई ऐप सुली डील का एक क्लोन जैसा लग रहा है.  जबकि इसमें कोई रियल बिक्री शामिल नहीं था, ऐप का उद्देश्य नीचा दिखाना, अपमानित करना और परेशान करना था.

दिल्ली में 1 लाख से ज्यादा डीजल वाहनों का रजिस्ट्रेशन रद्द, 43 लाख पेट्रोल वाहनों पर भी लटकी तलवार

दिल्ली पुलिस में एक महिला पत्रकार ने शनिवार को अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराकर आरोप लगाया कि ‘‘मुस्लिम महिलाओं को शर्मिंदा करने और उनका अपमान करने के इरादे से'' उनकी ऐसी तस्वीर एक वेबसाइट पर डाली गई जिससे छेड़छाड़ की गई थी. महिला पत्रकार ने दक्षिणी दिल्ली के सीआर पार्क थाने में ऑनलाइन शिकायत की जिसकी प्रति उसने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा भी की. एक ऑनलाइन समाचार पोर्टल में काम करने वाली इस महिला पत्रकार ने सोशल मीडिया और इंटरनेट पर ‘‘मुस्लिम महिलाओं को परेशान करने और उनका अपमान करने'' की कोशिश कर रहे अज्ञात व्यक्तियों के समूह के खिलाफ तत्काल प्राथमिकी दर्ज करने और जांच करने की मांग की. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शिकायत में कहा गया है, ‘‘मैं आज सुबह यह जानकर स्तब्ध रह गई कि ‘‘बुल्लबाई डाट गिथुब डाट आईओ' नामक एक वेबसाइट/पोर्टल पर मेरी एक अनुचित, अस्वीकार्य तस्वीर है जिससे छेड़छाड़ की गई है.  इस संबंध में तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता है, क्योंकि इसका उद्देश्य मुझे और अन्य स्वतंत्र महिलाओं एवं पत्रकारों को परेशान करना है. ''दिल्ली पुलिस ने ट्विटर पर जवाब दिया और कहा कि इस मामले का संज्ञान ले लिया गया है.