Petrol, Diesel Prices Today: 11वें दिन भी नहीं बदले पेट्रोल-डीजल के दाम, चुनाव के पहले की है शांति?

Petrol Diesel Prices Today: एक साल से अधिक समय बाद पहली बार ब्रेंट कच्चा तेल 70 से ऊपर गया है. देश में क्रूड प्राइस के उतार-चढ़ाव के आधार पर फ्यूल की कीमतें तय होती हैं, ऐसे में पिछले कई दिनों से तेल के दामों में कोई बदलाव न किए जाने के पीछे क्या कोई कारण है?

Petrol, Diesel Prices Today: 11वें दिन भी नहीं बदले पेट्रोल-डीजल के दाम, चुनाव के पहले की है शांति?

Petrol Diesel Prices: पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार 11 दिनों से कोई बदलाव नहीं.

नई दिल्ली:

Fuel Price Today : देश में पिछले कई दिनों से पेट्रोल-डीजल के दामों में स्थिरता देखी जा रही है. लगातार 11 दिनों से दामों में कोई बढ़ोतरी या घटोतरी नहीं हुई है. घटोतरी तो खैर, महीनों से नहीं हुई, जबकि फरवरी में कुल 14 दिन दाम बढ़ाए गए थे. हालांकि, अब फिलहाल दामों में शांति है, फिर भी पेट्रोल-डीजल के दाम देश में रिकॉर्ड स्तर पर चल रहे हैं. 

ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने 10 मार्च, 2021 को भी तेल के दामों में कोई बदलाव नहीं किया है. 27 फरवरी, 2021 को किए गए आखिरी बदलाव के आधार पर फिलहाल, दिल्ली में पेट्रोल का भाव 91.17 रुपये प्रति लीटर और डीजल 81.47 रुपये लीटर बिक रहा है. मुंबई में पेट्रोल 97.57 रुपये प्रति लीटर और डीजल 88.60 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है. देश के शीर्ष प्रमुख चार महानगरों- दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई- में सबसे महंगा पेट्रोल मुंबई में है.

कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 91.35 रुपये प्रति लीटर और डीजल 84.35 रुपये प्रति लीटर चल रहा है. चेन्नई में पेट्रोल 93.11 रुपये लीटर जबकि डीजल 86.45 रुपये प्रति लीटर पर है.

क्यों स्थिर हैं दाम?


पिछले दो-तीन दिनों में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी आई है. बाजार का बैरोमीटर माना जाने वाला ब्रेंट क्रूड सोमवार को 1.14 डालर उछल कर 70.14 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया था. एक साल से अधिक समय बाद पहली बार ब्रेंट कच्चा तेल 70 से ऊपर गया है. देश में क्रूड प्राइस के उतार-चढ़ाव के आधार पर फ्यूल की कीमतें तय होती हैं, ऐसे में पिछले कई दिनों से तेल के दामों में कोई बदलाव न किए जाने के पीछे क्या कोई कारण है?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि इसके पीछे पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव हो सकते हैं. देश में 27 मार्च से पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु सहित अन्य राज्यों में मतदान होना है. 2 मई को नतीजे आने हैं. ऐसे में हो सकता है इसके चलते तेल के दाम स्थिर हों. तो फिर सवाल यह भी है कि क्या चुनाव के बाद तेल के दाम फिर से बढ़ेंगे? देखते हैं आने वाले दिनों में क्रूड और देश में रिटेल फ्यूल की क्या दशा-दिशा रहती है.