बिहार चुनावों के परिणामों से लोकतंत्र पर भरोसा करने वाले दुखी हैं : अखिलेश यादव

पत्रकारों ने उनसे पूछा कि आप उप चुनाव में प्रचार करने नहीं गये थे, इस पर उन्होंने कहा, ‘‘2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रचार करने जायेंगे . वैसे इन चुनावों में हमसे ज्यादा मेहनत तो सरकार और उसके अधिकारी कर रहे थे.''''

बिहार चुनावों के परिणामों से लोकतंत्र पर भरोसा करने वाले दुखी हैं : अखिलेश यादव

लखनऊ:

बिहार चुनाव पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि जितने लोकतंत्र पसंद लोग हैं और जो लोकतंत्र पर भरोसा करते हैं, वे सब वहां के परिणाम से दुखी हैं. उन्होंने कहा कि राजग गठबंधन को केवल 13 से 14 हजार वोट ज्यादा मिलें हैं लेकिन उन्होंने तिकड़म से सरकार बना ली .उत्तरप्रदेश में उप चुनाव में मिली हार के बारे में यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी चुनाव जीतने के लिये पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर हर चीज का इस्तेमाल करती है.

पूर्व मुख्यमंत्री बृहस्पतिवार को अपने कार्यालय में अयोध्या के ग्रामीण इलाकों गांजा, कुटिया और धर्मपुर से आये उन किसानों से मिल रहे थे, जिनकी जमीन वहां हवाई अड्डे के लिये ली जा रही है . इन किसानों का आरोप है कि सरकार उन्हें बहुत कम मुआवजा दे रही है और अधिकारी उन पर जबरन जमीन देने के लिये दबाव बना रहे हैं .

बिहार चुनावों के बारे में पूछे गये सवाल पर सपा अध्यक्ष ने कहा, ''''ऐसा चुनाव मैंने कभी नहीं देखा, तेजस्वी जीतते- जीतते रह गए. जितने भी लोकतंत्र पसंद लोग हैं और जिन लोगों को लोकतंत्र पर भरोसा है, वे सब दुखी हैं. भाजपा गठबंधन को महज 13 से 14 हजार अधिक वोट मिले हैं और तिकड़म के बल पर उन्होंने सरकार बना ली.''

उत्तरप्रदेश में हाल ही में सात सीटों पर हुये उप चुनाव में समाजवादी पार्टी के केवल एक सीट पर जीतने के बारे में अखिलेश यादव ने कहा, ‘‘इन चुनावों में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर कोरोना वायरस की जांच करने वालों को भी मतदान केंद्र के बाहर लगा दिया गया था . बूथ के बाहर कुछ लोग टेम्परेचर लेने के लिये खड़े थे और कह रहे कि ऐसा टेम्परेचर बता देंगे कि सीधे अस्पताल में भर्ती होना पड़ेगा और बूथ के बाहर दस एंबुलेंस लगा रखी थी . अगर यह बात गांव में गयी होगी तो क्या हुआ होगा . आपने अपने बूथ तो अस्सी नब्बे प्रतिशत कर लिए और दूसरी पार्टी के बूथों पर सबको लाठी मार मार कर थाने में बंद कर दिया . लोकतंत्र में यह बड़ी अच्छी स्टाइल है भारतीय जनता पार्टी की, सबकी जानकारी में है कौन सा थाना नहीं भरा हुआ था .''


पत्रकारों ने उनसे पूछा कि आप उप चुनाव में प्रचार करने नहीं गये थे, इस पर उन्होंने कहा, ‘‘2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रचार करने जायेंगे . वैसे इन चुनावों में हमसे ज्यादा मेहनत तो सरकार और उसके अधिकारी कर रहे थे.''''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यादव ने अयोध्या से आये किसानों की जमीन का कम मुआवजा मिलने पर कहा कि सरकार को चाहिए कि वह इन्हें उचित मुआवजा दे, जब हमारी सरकार में एक्सप्रेस- वे बनाया गया था तो हमने किसानों को उचित मुआवजा दिया था और किसी को भी इस मुआवजे से शिकायत नहीं थी .



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)