यह ख़बर 24 अगस्त, 2014 को प्रकाशित हुई थी

संसद को कुछ कार्य स्वतंत्र तौर पर करने दिए जाने चाहिए : मुख्तार अब्बास नकवी

संसद को कुछ कार्य स्वतंत्र तौर पर करने दिए जाने चाहिए : मुख्तार अब्बास नकवी

फाइल फोटो

मथुरा:

उच्चतम न्यायालय द्वारा केंद्र से विपक्ष के नेता के मुद्दे पर रुख स्पष्ट करने के लिए कहे जाने के बीच भाजपा ने शनिवार को कहा कि न्यायपालिका और संसद के बीच टकराव लोकतंत्र के लिए सही नहीं नहीं है और संसद को कुछ काम स्वतंत्र तौर पर करने दिया जाना चाहिए।

भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा, 'संसद संविधान के साथ ही कुछ तय नियमों के आधार पर चलती है। यद्यपि कुछ राजनीतिक पार्टियां मुद्दे को अदालतों में लेकर जाती हैं ताकि उसे विवादास्पद बनाया जा सके। संसद को कुछ कार्य स्वतंत्र तौर पर करने दिया जाना चाहिए।'

उन्होंने कहा, 'न्यायपालिका और संसद के बीच टकराव लोकतंत्र के लिए सही नहीं नहीं है। यदि दोनों को स्वतंत्र तौर पर काम करने दिया जाए तो लोकतंत्र खतरे में नहीं पड़ेगा।' उन्होंने कहा, 'कांग्रेस अवसाद के दौर से गुजर रही है क्योंकि मतदाताओं ने उसे विपक्ष में भी नहीं बैठने दिया। वह निराश है क्योंकि उसे भ्रष्टाचार करने का कोई मौका नहीं मिल रहा है।'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


नकवी ने उत्तर प्रदेश की सपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में 'अराजकता' है। उन्होंने कहा, 'अपराध दर में तेज बढ़ोतरी यह दिखाती है कि अपराधियों और असामाजिक तत्व उत्तर प्रदेश सरकार पर हावी हो गए हैं।' उन्होंने कि भाजपा राज्य में आगामी चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़ेगी। उन्होंने कहा, 'जम्मू कश्मीर में कोई भी सरकार भाजपा के समर्थन के बिना नहीं बनेगी।'