10 नए मामले सामने आने के बाद भारत में ओमिक्रॉन की संख्या बढ़कर 83 हुई

राज्यों से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक, गुरुवार को कर्नाटक में ओमिक्रॉन स्वरूप के पांच मामले दर्ज किए गए जबकि दिल्ली और तेलंगाना में चार-चार और गुजरात में एक नया मामला सामने आया.

10 नए मामले सामने आने के बाद भारत में ओमिक्रॉन की संख्या बढ़कर 83 हुई

देश के अलग-अलग राज्यों में ओमिक्रॉन के कुल 14 नए मामले सामने आए. (फाइल फोटो)

बेंगलुरु/नई दिल्ली:

देश के अलग-अलग राज्यों में गुरुवार को कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के कुल 14 नए मामले सामने आए, जिसके साथ ही ऐसे मामलों की संख्या बढ़कर 87 तक पहुंच गई. राज्यों से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक, गुरुवार को कर्नाटक में ओमिक्रॉन स्वरूप के पांच मामले दर्ज किए गए जबकि दिल्ली और तेलंगाना में चार-चार और गुजरात में एक नया मामला सामने आया. कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने गुरुवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस के नये स्वरूप ओमिक्रॉन के और पांच नये मामले आने के साथ ही इससे संक्रमित लोगों की संख्या आठ हो गई है.

सुधाकर ने ट्वीट किया, ‘‘कर्नाटक में आज ओमिक्रॉन के पांच और मामले आए- ब्रिटेन से लौटा 19 वर्षीय युवक, दिल्ली से लौटा 36 वर्षीय व्यक्ति, दिल्ली से लौटीं 70 वर्षीय महिला, नाइजीरिया से लौटा 52 वर्षीय व्यक्ति और दक्षिण अफ्रीका से लौटा 33 वर्षीय व्यक्ति.'' देश में ओमिक्रॉन के पहले दो मामले कर्नाटक में 2 दिसंबर को सामने आए थे, जिनमें पहला मामला देश छोड़ चुके एक दक्षिण अफ्रीकी व्यक्ति का है और दूसरा एक स्थानीय डॉक्टर का जिन्होंने फिलहाल कहीं की यात्रा नहीं की है. वहीं, तेलंगाना में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन स्वरूप के चार नए मामले दर्ज किए जाने के साथ ही राज्य में गुरुवार तक ऐसे मामलों की संख्या बढ़कर सात तक पहुंच गई.

तेलंगाना के जनस्वास्थ्य निदेशक जी श्रीनिवास राव ने कहा कि चार नए मामलों में से तीन लोग केन्या के हैं जबकि एक व्यक्ति भारतीय मूल का है. उन्होंने कहा कि मरीजों के बारे में अन्य जानकारियो जुटाई जा रही हैं इसलिए शुक्रवार को विस्तृत जानकारी साझा की जाएगी. उधर, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने गुरुवार को बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में अभी तक कोरोना वायरस के नए स्वरूप ‘ओमिक्रॉन' के 10 मामले सामने आए हैं और उनमें से किसी की हालत ‘‘गंभीर'' नहीं है. उन्होंने बताया कि संदेह के आधार पर 40 लोगों को लोकनायक जय प्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इनमें से 38 कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.

जैन ने पत्रकारों से कहा, ‘‘दिल्ली में अभी तक ओमिक्रॉन स्वरूप के 10 मामले सामने आए हैं. इनमें से एक को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है.'' उन्होंने बताया कि इनमें से किसी की हालत ‘‘गंभीर'' नहीं है. वहीं, गुजरात में मेहसाणा जिले की विजयपुर तहसील के एक गांव की 41 वर्षीय महिला स्वास्थ्य कर्मी गुरुवार को कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन स्वरूप से संक्रमित पाई गईं. अधिकारियों ने बताया कि इसके बाद गुजरात में ‘ओमिक्रॉन' के कुल मामलों की संख्या पांच हो गई है. मुख्य जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ विष्णुभाई पटेल ने कहा, “ महिला मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता (आशा) के तौर पर सेवारत है. उसका विदेश यात्रा का कोई इतिहास नहीं है, लेकिन वह हाल में जिम्बाब्वे से लौटे अपने एक रिश्तेदार के संपर्क में आई थी.”

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने बताया कि उसका मेहसाणा के वडनगर शहर के एक सरकारी अस्पताल में बनाए गए पृथक वार्ड में इलाज चल रहा है और उसकी हालत स्थिर है. पटेल ने कहा, “महिला के पति की हाल में कैंसर के कारण मौत हो गई. उनकी शोकसभा में शिरकत करने के लिए उसके पति के बड़े भाई और भाभी पिछले महीने जिम्बाब्वे से आए हैं. दोनों की तीन बार कोविड-19 की जांच की गई और उनकी रिपोर्ट हर बार निगेटिव आई.” अधिकारी ने बताया कि प्रशासन ने एहतियाती तौर पर संपर्कों का पता लगाने का फैसला किया है. महिला 10 दिसंबर को संक्रमित पाई गई थीं जिसके बाद उनके नमूने को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया. जीनोम सीक्वेंसिंग की रिपोर्ट गुरुवार को आई है और उसमें ‘ओमिक्रॉन' स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.