NSA अजीत डोभाल ने कुंभ की तारीफ में नहीं लिखी कोई चिट्ठी, अधिकारियों ने बताया फर्जी: रिपोर्ट

कथित रूप से डोभाल ने इस लेटर में अधिकारियों को बधाई दी कि उन्होंने हरिद्वार में सफलतापूर्वक कुंभ मेले का आयोजन किया. हालांकि, मंगलवार को अधिकारियों ने बताया कि यह लेटर फेक है.

NSA अजीत डोभाल ने कुंभ की तारीफ में नहीं लिखी कोई चिट्ठी, अधिकारियों ने बताया फर्जी: रिपोर्ट

कोविड के चलते इस साल हरिद्वार के कुंभ की अवधि एक महीने हो गई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

सोशल मीडिया पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के नाम से एक लेटर सर्कुलेट हो रहा था, जिसमें वो कोविड के बीच हुए कुंभ मेले के लिए की गई तैयारियों के लिए उत्तराखंड सरकार के अधिकारियों की तारीफ कर रहे थे. इस लेटर में कथित रूप से डोभाल ने अधिकारियों को इस बात की बधाई दी कि उन्होंने हरिद्वार में सफलतापूर्वक कुंभ मेले का आयोजन किया. हालांकि, मंगलवार को अधिकारियों ने बताया कि यह लेटर फेक है और सोशल मीडिया पर गलत तरीके से सर्कुलेट किया गया है.

अधिकारियों ने कहा कि 'यह लेटर फर्जी है और NSA ने ऐसी कोई चिट्ठी नहीं लिखी है.' इस 'फर्जी लेटर' में अजीत डोभाल ने उत्तराखंड के मुख्य सचिव को संबोधित किया है और उन्हें 'कुंभ मेले में स्थिति को संभालने के लिए' बधाई दे रहे हैं.

लेटर में अंत लिखा गया है कि कुंभ मेला के सफलतापूर्वक आयोजन से देश में एक धार्मिक माहौल बनेगा, एक अनुशासन पैदा होगा और भविष्य में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की विचारधारा को बढ़ावा देने का मौका मिलेगा.

हरिद्वार कुंभ से लौटने वालों पर दिल्ली सरकार सख्त, 14 दिन अनिवार्य होम क्वारंटाइन करने के आदेश


बता दें कि देश में निश्चित अवधि में चार जगहों पर- नासिक, हरिद्वार, प्रयागराज और उज्जैन में कुंभ होता है. हरिद्वार में हर 12 साल पर कुंभ का आयोजन होता है. सामान्य परिस्थितियों में कुंभ चार महीनों तक चलता है, लेकिन इस साल कोविड के चलते इसे घटाकर एक महीने तक सीमित कर दिया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएम मोदी ने सोमवार को एक ट्वीट कर बताया था कि उन्होंने कुंभ में कुछ बड़े साधुओं से बात करके इसे इस प्रतीकात्मक तौर पर मनाने की अपील की है. इसे कई बड़े संतों का सहयोग मिला और फिर कुंभ को एक महीने तक सीमित कर दिया गया है.