रोजे में भी कोरोना वैक्सीन लगवा सकते हैं मुसलमान : मौलाना खालिद रशीद फिरंगीमहली

दारुल इफ्ता फिरंगीमहल के क़ाज़ी मौलाना खालिद रशीद फिरंगीमहली ने कहा- वैक्सीन लगवाने से रोजा नहीं टूटेगा. क्योंकि वैक्सीन की दवा खून में जाती है पेट में नहीं

रोजे में भी कोरोना वैक्सीन लगवा सकते हैं मुसलमान : मौलाना खालिद रशीद फिरंगीमहली

मौलाना खालिद रशीद फिरंगीमहली ने कहा है कि जिन लोगों को कोरोना के लक्षण हों वे रोज़ा न रखें और अपना इलाज कराएं.

लखनऊ:

दारुल इफ्ता फिरंगीमहल के क़ाज़ी मौलाना खालिद रशीद फिरंगीमहली (Maulana Khalid Rashid Firangimahali) ने आज फतवा दिया है कि मुसलमान रोज़े में भी कोरोना वायरस की वैक्सीन (Coronavirus vaccine) लगवा सकते हैं. वैक्सीन लगवाने से रोजा नहीं टूटेगा. क्योंकि वैक्सीन की दवा खून में जाती है पेट में नहीं. रोज़े कल से शुरू हो रहे हैं.

मौलाना ने यह भी कहा है कि जिन लोगों को कोरोना के लक्षण हों वे रोज़ा न रखें और अपना इलाज कराएं. वे पूरी तरह ठीक होने के बाद फिर छूटे हुए रोज़ों की भरपाई में रोज़े रख सकते हैं. 

qp7s79dg

64v28ogg

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मौलाना ने कहा कि इस्लाम के पैग़म्बर मोहम्मद साहब ने भी अवाम से कहा है कि अगर वो बीमार हैं तो उस बीमारी के एक्सपर्ट डॉक्टर से अपना इलाज कराएं और डॉक्टर की हिदायत पर अमल करें.