पेट्रोल पर MP तो डीजल पर राजस्थान लेता है सबसे ज्यादा टैक्स : पेट्रोलियम मंत्री

पेट्रोल के खुदरा मूल्य में 55 प्रतिशत तथा डीजल के मूल्य में 50 प्रतिशत केंद्र और राज्यों के कर होते हैं.

पेट्रोल पर MP तो डीजल पर राजस्थान लेता है सबसे ज्यादा टैक्स : पेट्रोलियम मंत्री

प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली:

पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि मध्य प्रदेश पेट्रोल पर देश में सबसे ज्यादा बिक्री कर या वैट लगाता है, वहीं राजस्थान डीजल पर सर्वाधिक कर लगाता है. पेट्रोल और डीजल के मूल्य इस महीने सर्वोच्च स्तर पर हैं. पेट्रोल के खुदरा मूल्य में 55 प्रतिशत तथा डीजल के मूल्य में 50 प्रतिशत केंद्र और राज्यों के कर होते हैं.

पुरी ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, ‘‘केंद्र सरकार द्वारा वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान पेट्रोल से अर्जित उत्पाद शुल्क/उपकर 1,01,598 करोड़ रुपये और डीजल से अर्जित उत्पाद शुल्क 2,33,296 करोड़ रुपये है.'' उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें पेट्रोल और डीजल के आधार मूल्य और केंद्रीय करों की कुल राशि पर वैट (मूल्य वर्द्धित कर) लगाती हैं.


पेट्रोल, डीजल की कीमतों को एकसमान बनाने की नहीं सोच रहा केंद्र, GST पर भी अभी कोई अपडेट नहींं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुरी के जवाब के अनुसार देश में पेट्रोल और डीजल पर सबसे कम वैट अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में है जो क्रमश: 4.82 रुपये प्रति लीटर और 4.74 रुपये प्रति लीटर है. उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश पेट्रोल पर 31.55 रुपये प्रति लीटर वैट लगातार है जो देश में सर्वाधिक है, वहीं राजस्थान डीजल पर 21.82 रुपये प्रति लीटर कर लगाता है जो देश में डीजल पर सर्वाधिक है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)