"पीएम मोदी बंगाल में व्यस्त" के तीखे हमले पर मंत्रियों ने उद्धव ठाकरे को दिया जवाब 

उद्धव ठाकरे ने दो दिन पहले उन्होंने देश के दूसरे हिस्से से मेडिकल ऑक्सीजन हवाई मार्ग से मंगाने की अनुमति को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था.

महाराष्ट्र के सीएम और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के बीच शनिवार को हुई थी बातचीत (फाइल)

मुंबई/नई दिल्ली:

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे Maharashtra Chief Minister Uddhav Thackeray ) के "पीएम मोदी बंगाल में व्यस्त" होने के तंज पर केंद्रीय मंत्रियों ने जवाबी हमला बोला है.ठाकरे का यह बयान ऐसे वक्त आया है, जब दो दिन पहले उन्होंने देश के दूसरे हिस्से से मेडिकल ऑक्सीजन हवाई मार्ग से मंगाने की अनुमति को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को पत्र लिखा था. ठाकरे ने समाज के गरीब वर्ग के लिए वित्तीय सहायता देने की बात भी कही थी. हालांकि महाराष्ट्र के सीएम और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के बीच शनिवार को बातचीत हुई थी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Dr Harsh Vardhan) और रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने उन खबरों पर जवाब दिया, जिनमें कहा गया है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (ने कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करने का प्रयास किया था, लेकिन यह अनुरोध ठुकरा दिया गया. डॉ. हर्षवर्धन ने ट्वीट कर कहा, मैंने उद्धव ठाकरे से संपर्क साधा और कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में पर्याप्त और निर्बाध ऑक्सीजन आपूर्ति का भरोसा दिया था. इसी के तहत केंद्र 1121 वेंटिलेटर भी भेज रहा है.


डॉ. हर्षवर्धन ने ट्वीट किया कि हमें कोरोनावायरस से मुकाबले के लिए 5 स्तंभों पर ध्यान देने की जरूरत है, जो टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट, कोविड के प्रति उचित व्यवहार और वैक्सीनेशन पर ध्यान देने की जरूरत पर बल दिया है. इससे पहले रेल मंत्री पीय़ूष गोयल ने उद्धव ठाकरे पर सतही राजनीति करने और उनकी सरकार को अकुशल और भ्रष्ट करार दिया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गोयल ने कहा कि महाराष्ट्र को अब तक सबसे ज्यादा ऑक्सीजन दी गई है. केंद्र सरकार लगातार उनके संपर्क में है. एक दिन पहले ही पीएम मोदी ने केंद्र और राज्यों से साथ मिलकर काम करने को कहा था. दुख की बात है कि उद्धव ठाकरे ने बेहद सतही राजनीति का प्रदर्शन किया है. गोयल ने दावा कि देश में ऑक्सीजन का उत्पादन 110 फीसदी की क्षमता से हो रहा है.