महाराष्ट्र की सरकार पर सस्पेंस बरकरार! सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद भी NCP चीफ शरद पवार ने नहीं खोले पत्ते

शरद पवार के बयानों से यह साफ हो गया कि तीनों पार्टियों के बीच अब तक सत्ता बनाने को लेकर अंतिम फैसला नहीं हुआ है और महाराष्ट्र में कुछ और दिनों तक राष्ट्रपति शासन जारी रहेगा.

महाराष्ट्र की सरकार पर सस्पेंस बरकरार! सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद भी NCP चीफ शरद पवार ने नहीं खोले पत्ते

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार.

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र की सियासत पर सस्पेंस अब भी बना हुआ है. एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार सोमवार को दिल्ली में सोनिया गांधी से क़रीब एक घंटे मिले. शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने के सवाल पर पवार ने साफ़ तौर पर कुछ भी नहीं कहा. पवार ने ये भी कह दिया कि वो तो अभी सबके साथ हैं. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों के 25 दिन बाद भी राज्य में जहां कोई सरकार नहीं बन पाई है तो वहीं उम्मीद की जा रही थी कि सोमवार शाम एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच हुई मुलाकात के बाद तस्वीर साफ होगी. बैठक के बाद शरद पवार ने आने के बाद घर पर पत्रकारों से बात की लेकिन शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर अपने पत्तों को नहीं खोला.

बैठक से पहले राज्यसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने सदन में एनसीपी की तारीफ की जिसके बाद एनसीपी और बीजेपी के बीच बढ़ती नजदीकियों पर चर्चा होने लगी. पत्रकारों से बात करते समय शरद पवार ने सबको तब चौंका दिया जब उन्होंने कहा कि शिवसेना के साथ कॉमन मिनिमम प्रोग्राम को लेकर कोई बैठक नहीं हुई है.

NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात के बाद बोले शिवसेना नेता संजय राउत, 'मुझे भरोसा है कि जल्द ही...'

बीजेपी के साथ 50-50 फार्मूला फार्मूले पर बात नहीं बनने के बाद शिवसेना एनडीए से बाहर भी आ गई और संसद में सोमवार को उसने विपक्ष जैसे तेवर भी दिखाएं शिवसेना अभी पूरे भरोसे में है कि वह एनसीपी कांग्रेस की मदद से सरकार बनाने जा रही है. शिवसेना के साथ जाने ना जाने की कांग्रेस की दुविधा बरकरार है कांग्रेस का एक खेमा इससे होने वाले नुकसान की बात कर रहा है तो दूसरी तरफ दूसरा खेमा बीजेपी को सत्ता से बाहर रखने के लिए इसे जोड़ी बता रहा है इस बीच कांग्रेस के मीडिया इंचार्ज रणदीप सुरजेवाला ने एक पॉलिटिकली करेक्ट ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा कि शरद पवार ने सोनिया गांधी से बात कर महाराष्ट्र के वर्तमान राजनीतिक हालात की जानकारी दी. आने वाले एक दो दिनों में कांग्रेस और एनसीपी के नेता मिलकर आगे की रणनीति तय करेंगे.

केंद्रीय मंत्री ने सुझाया महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना का नया फार्मूला, संजय राउत ने कहा- अगर बीजेपी चाहे...

वहीं, शरद पवार के बयानों से यह साफ हो गया कि तीनों पार्टियों के बीच अब तक सत्ता बनाने को लेकर अंतिम फैसला नहीं हुआ है और महाराष्ट्र में कुछ और दिनों तक राष्ट्रपति शासन जारी रहेगा.


सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले NCP प्रमुख शरद पवार, शिवसेना के साथ सरकार बनाने को लेकर...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: सोनिया गांधी और शरद पवार की बैठक में क्या हुआ?