शिवराज सिंह के मंत्री से कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जाने पर सवाल पूछा तो युवती को किया गया 'ट्रोल'..

इंदौर शहर के निपानिया इलाके में एक कार्यक्रम के दौरान उपासना ने चर्चा के दौरान 'मंत्रीजी' तुलसी सिलावट से पूछ लिया था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया कर्ज माफी को लेकर ट्वीट करते थे अब उसी पर सवाल क्यों उठा रहे हैं?

शिवराज सिंह के मंत्री से कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जाने पर सवाल पूछा तो युवती को किया गया 'ट्रोल'..

महिला ने शिवराज सरकार के मंत्री तुलसी सिलावट से बीजेपी में जाने को लेकर सवाल पूछा था

भोपाल:

मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) की शिवराज सिंह सरकार (Shivraj singh Government) में जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट (Tulsi Silawat) से कांग्रेस छोड़कर बीजेपी (BJP) में आने का सवाल करने वाली युवती को सोशल मीडिया पर लोगों को ट्रोलिंग का शिकार होना पड़ा है. उपासना शर्मा नाम की इस युवती ने आरोप लगाया है कि उसने मंत्रीजी से कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में 'शिफ्ट' करने को लेकर सवाल पूछा तो उसके खिलाफ अपमानजनक कमेंट किए गए. मामले में इस युवती ने इंदौर के लसूड़िया थाना पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है. 


दरअसल शहर के निपानिया इलाके में एक कार्यक्रम के दौरान उपासना ने चर्चा के दौरान 'मंत्रीजी' तुलसी सिलावट से पूछ लिया था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया कर्ज माफी को लेकर ट्वीट करते थे अब उसी पर सवाल क्यों उठा रहे हैं? उसने सिलावट से यह भी पूछा था-एक अच्छीभली चलती सरकार को गिराकर आपको कैसा लग रहा है? फिर चुनाव (उपचुनाव) होंगे, जनता का पैसा बर्बाद होगा. इस सवाल पर सिलावट कुछ असहज हो गए. फिर थोड़ा संभलकर बोले कि वचन पत्र के वादे पूरे नहीं हो रहे थे. '

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मंत्रीजी' से यह सवाल पूछने वाली उपासना का कहना है कि उसका संबंध किसी भी पार्टी से नहीं है वो सिर्फ एक वोटर है और उसी के नाते उन्होंने तुलसी सिलावट से सवाल पूछा था. गौरतलब है कि तुलसी सिलावट पूर्व कांग्रेस नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के प्रबल समर्थक माने जाते हैं. सिंधिया के बीजेपी ज्‍वॉइन करने के बाद कांग्रेस के 22 विधायक इस्‍तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए थे और इसके बाद राज्‍य में शिवराज सिंह के नेतृत्‍व में बीजेपी सरकार बनने का रास्‍ता खुला था. विधायकों के इस्‍तीफे के बादद कमलनाथ की कांग्रेस सरकार अल्‍पमत में आ गई थी. शिवराज के मुख्‍यमंत्री बनने के साथ ही तुलसी सिलावट सहित पांच मंत्रियों ने शपथ ली थी.