बिहार: 'सहयोगी' चिराग पासवान ने फिर CM नीतीश की बढ़ाई 'परेशानी', चुनाव को लेकर तेजस्‍वी के सुर में सुर मिलाया..

चिराग ने हाल के समय में सीएम नीतीश के खिलाफ आक्रामक रुख अपना रखा है.एलजेपी के युवा नेता चिराग ने अपने ट्वीट में लिखा-कोरोना के प्रकोप से बिहार ही नहीं, पूरा देश प्रभावित है. कोरोना के कारण आम आदमी के साथ साथ केंद्र व बिहार सरकार का आर्थिक बजट भी प्रभावित हुआ है. ऐसे में चुनाव से प्रदेश पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा.

बिहार: 'सहयोगी' चिराग पासवान ने फिर CM नीतीश की बढ़ाई 'परेशानी', चुनाव को लेकर तेजस्‍वी के सुर में सुर मिलाया..

चिराग ने कहा, चुनाव आयोग में बिहार में इलेक्‍शन को लेकर सोच-समझकर विचार करना चाहिए

पटना:

Coronavirus Pandemic:बिहार (Bihar) के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar)पर विपक्षी दलों की ओर से राज्‍य में कोरोना वायरस के बढ़ते जोखिम को दरकिनार कर विधानसभा चुनाव को तवज्‍जो देने का आरोप लगाया गया है. विपक्षी दलों को 'अपनी इस आवाज' का साथ देने के लिए एनडीए का एक सहयोगी भी मिल गया है. लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के नेता चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने शु्क्रवार को ट्वीट करके चुनाव आयोग से कोरोना महामारी के बीच बिहार में विधानसभा चुनाव के फैसले पर विचार करने का आग्रह किया है. गौरतलब है कि चिराग से पहले बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्‍वी यादव (RJD leader Tejaswi Yadav)भी कह चुके हैं कि बिहार में कोरोना के कारण स्थिति विस्‍फोटक होती जा रही है, ऐसे में यहां विधानसभा चुनाव कराने के लिए उपयुक्‍त माहौल नहीं है.


चिराग ने हाल के समय में सीएम नीतीश के खिलाफ आक्रामक रुख अपना रखा है.एलजेपी के युवा नेता चिराग ने अपने ट्वीट में लिखा-कोरोना के प्रकोप से बिहार ही नहीं, पूरा देश प्रभावित है. कोरोना के कारण आम आदमी के साथ साथ केंद्र व बिहार सरकार का आर्थिक बजट भी प्रभावित हुआ है. ऐसे में चुनाव से प्रदेश पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा. संसदीय बोर्ड के सभी सदस्यों ने इस विषय पर चिंता जताई है. एक अन्‍य ट्वीट में चिराग ने कहा, 'चुनाव आयोग को इस विषय पर सोचकर निर्णय लेना चाहिए.कहीं ऐसा ना हो कि चुनाव के कारण एक बड़ी आबादी को ख़तरे में झोंक दिया जाए. इस महामारी (कोरोना) के बीच चुनाव होने पर पोलिंग पर्सेंटेज भी काफ़ी नीचे रह सकते है जो लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है.' गौरतलब है कि चिराग के पिता रामविलास पासवान एनडीए की अगुवाई वाली केंद्र सरकार में मंत्री हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


चिराग से पहले आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव भी विधानसभा चुनावों को लेकर इसी तरह के विचार जता चुके हैं. आरजेडी ने कहा है कि नीतीश सरकार को विधानसभा चुनाव की चिंता सता रही है और इसी कारण राज्‍य में कोरोना की महामारी को 'अंडरप्‍ले' किया जा रहा है. बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता रहे तेजस्वी यादव ने कहा, "गरीब मर रहे हैं. लेकिन उनकी देखभाल के बजाय, ये लोग केवल अपनी कुर्सी के लिए चिंतित हैं." तेजस्‍वी ने कहा, "वे केवल अपनी सीट के बारे में चिंतित हैं. भाजपा और मुख्यमंत्री अपनी वर्चुअल आभासी रैलियां कर रहे हैं,लेकिन वे बिहार के गरीब लोगों के साथ नहीं खड़े हैं.गरीब मर रहे हैं. हर जगह तबाही है. लेकिन केवल अपनी कुरसी के बारे में चिंतित हैं. वे चुनाव की तैयारी कर रहे हैं.” गौत्‍वरतलब है कि बिहार में इस वर्ष नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं. बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एक वर्चुअल रैली में घोषणा कर चुके है कि एनडीए यह विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में लड़ेगा. बिहार में जेडीयू और बीजेपी के गठबंधन वाली सरकार इस समय सत्‍ता पर काबिज है. बिहार के विधानसभा चुनावों को लेकर डिप्‍टी सीएम और बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा, "कोरोनो वायरस के प्रकोप के बीच चुनाव आयोग सुरक्षित तरीके से चुनाव कराने की कोशिश कर रहा है लेकिन आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव इसे अनावश्यक रूप से रोकने की कोशिश कर रहे हैं.' बहरहाल, चुनावों को लेकरजिस तरह से चिराग के ट्वीट सामने आए हैं, उसने राज्‍य में एनडीए में सब कुछ 'पूरी तरह ठीक नहीं होने' की आशंकाओं को बल दे दिया है.