'मार दीजिए, गाड़ दीजिए...हमें डर नहीं लगता'- प्रियंका के साथ पुलिसिया जबरदस्ती पर बोले राहुल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया, जिसमें उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि 'हिन्दुस्तान की सरकार किसानों पर सिस्टमैटिक तरीके से आक्रमण कर रही है.'

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जाने की घोषणा की है. इसके पहले उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया, जिसमें उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि 'हिन्दुस्तान की सरकार किसानों पर सिस्टमैटिक तरीके से आक्रमण कर रही है. सिस्टमैटिकली जो किसानों का वो उनसे छीना जा रहा है, सबके सामने चोरी हो रही है.' राहुल ने कहा कि 'अब कुछ समय से हिंदुस्तान के किसानों पर सरकार का आक्रमण हो रहा है. किसानों को जीप के नीचे कुचला जा रहा है, उनका मर्डर किया जा रहा है. स्टेट होम मिनिस्टर की बात हो रही है, उनके बेटे की बात हो रही है. इस सरकार में पोस्टमार्टम ठीक से नहीं हो रहा है. जो बोल रहा है उसको बंद किया जा रहा है.'

राहुल से प्रियंका गांधी के साथ हुई पुलिस की जबरदस्ती पर पूछे गए सवाल को लेकर कहा कि 'हमें मैनहैंडलिंग से डर नहीं लगता है, हमें सालों से ट्रेनिंग मिली हुई है, हमारा परिवार सिखाता है.'

राहुल गांधी ने पीएम मोदी के लखनऊ दौरे पर सवाल उठाते हुए कहा कि 'कल पीएम लखनऊ में थे, वो लखीमपुर खीरी क्यों नहीं जा पाए?' राहुल ने अपने आज के दौरे की प्लानिंग पर कहा कि वो आज कांग्रेस के दो मुख्यमंत्रियों के साथ लखीमपुर जाने की कोशिश करेंगे. उन्होंने कहा कि चूंकि धारा 144 लागू की गई है, ऐसे में वो बस तीन लोग ही जाएंगे और इसे लेकर चिट्ठी लिखी गई है. बता दें कि यूपी सरकार ने राहुल गांधी को लखीमपुर जाने की इजाजत नहीं दी है.

ये भी पढ़ें : 'वारंट दिखाओ', प्रियंका गांधी ने लगाई पुलिस को फटकार तो राहुल बोले- 'तुम्हारी हिम्मत से वे डर गए'

राहुल ने कहा कि वो वहां जाकर स्थिति को देखना चाहते हैं. उन्होंने कहा, 'विपक्ष का काम प्रेशर बनाना होता है, तब कार्रवाई होती है. सरकार चाहती है कि हम प्रेशर न बनाएं और मर्डर करने वाले बचकर निकल जाएं. हाथरस में भी हमने आवाज नहीं उठाई होती तो यही होता.'

उन्होंने मीडिया पर सवाल उठाते हुए कहा कि 'मीडिया सवाल नहीं उठाती, उसको आप भूल गए. और फिर आप हमें कहते हो.'


बता दें कि राहुल के पहले प्रियंका गांधी हिंसा की अगली रात ही लखीमपुर खीरी जाने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन सीतापुर में पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया था. वो अभी तक 48 घंटों से ज्यादा वक्त के बाद भी पुलिस की हिरासत में हैं. प्रियंका ने कहा है कि वो जितना वक्त भी उन्हें वहां रखा जाए, वो रह लेंगी, लेकिन वो किसानों से मिलने जरूर जाएंगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : राहुल गांधी आज लखीमपुर खीरी जाएंगे, योगी सरकार ने नहीं मिली इजाजत