अखिलेश आप तो बिजली ही नहीं दे पाए, मुफ्त में क्या देंगे : अमित शाह ने मथुरा में साधा निशाना

इस बार का यूपी गणित इतना आसान नहीं है. जाट पश्चिमी उत्तर प्रदेश की लगभग सभी सीटों पर एक निर्णायक फैक्टर हैं. इस इलाके में राष्ट्रीय लोकदल, आरएलडी का प्रभाव है. इस बार पूर्व पीएम चरण सिंह के पोते जयंत चौधरी के नेतृत्व वाली रालोद ने अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी से हाथ मिलाया है.

अखिलेश आप तो बिजली ही नहीं दे पाए, मुफ्त में क्या देंगे : अमित शाह ने मथुरा में साधा निशाना

बीजेपी ने पश्चिम यूपी में चुनाव प्रचार पर लगाया जोर

मथुरा:

यूपी के चुनाव  प्रचार (UP Assembly elections2022) में आज  बीजेपी (BJP)का फोकस मथुरा (कृष्ण जन्मभूमि) पर है, जो कि अयोध्या और वाराणसी के साथ प्रमुख मंदिरों में से एक है. गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और सीएम योगी आदित्यनाथ आज पश्चिमी यूपी को कवर कर रहे हैं, जिसमें 100 से अधिक विधानसभा सीटें हैं, जहां सात में से 3 चरणों में मतदान होगा. वापस लिए जा चुके तीनों कृषि कानूनों को लेकर पश्चिमी यूपी में बीजेपी 'अलोकप्रियता' की धारणा से जूझ रही  है. 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने पश्चिमी यूपी में 76 फीसदी सीटें जीती थीं.

अमित शाह ने आज वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर में पूजा-अर्चना की. मथुरा में अमित शाह ने कहा कि बीजेपी सरकार में अपराध घटे हैं.  यूपी में कानून का राज कायम हुआ है. सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि आपसे जुड़े लोगों के यहां नोटों की गड्डियां निकल रही हैं. गुंडा, आतंकवाद और दंगों से मुक्त शासन देने का काम योगी सरकार ने किया है. अमित शाह ने अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव मुफ्त बिजली की बात करते हैं, जो बिजली ही नहीं दे पाए, वो मुफ्त बिजली क्या देंगे.

गौरतलब है कि इस बार का यूपी गणित इतना आसान नहीं है. जाट पश्चिमी उत्तर प्रदेश की लगभग सभी सीटों पर एक निर्णायक फैक्टर हैं. इस इलाके में राष्ट्रीय लोकदल, आरएलडी का प्रभाव है. इस बार पूर्व पीएम चरण सिंह के पोते जयंत चौधरी के नेतृत्व वाली रालोद ने अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी से हाथ मिलाया है. पीटीआई के मुताबिक- अमित शाह ने जाट नेताओं के साथ बैठक में कहा था कि आरएलडी प्रमुख ने 'गलत घर' चुना है.

यूपी में बीजेपी झोंक रही पूरी ताकत, CM योगी से लेकर राजनाथ सिंह का ये है आज का कार्यक्रम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


 अयोध्या और वाराणसी के साथ मथुरा भी हिन्दुओं का प्रमुख स्थल है. योगी आदित्यनाथ और उनके डिप्टी केशव प्रसाद मौर्य दोनों ने हाल ही में कृष्ण जन्मभूमि मंदिर के पुनरुद्धार के बारे में  बात की थी. सीएम योगी आदित्यनाथ ने 29 दिसंबर को मथुरा में एक रैली में कहा था कि अयोध्या और काशी (वाराणसी) के बाद क्या वृंदावन-मथुरा को पीछे छोड़ा जा सकता है?  योगी आदित्यनाथ की टिप्पणी के कुछ दिनों बाद केशव प्रसाद मौर्या ने भी ट्वीट किया था कि अयोध्या और काशी में भव्य मंदिरों का निर्माण चल रहा है, अब मथुरा की बारी है?