जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग तीन दिन बंद रहने के बाद फिर से खुला

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग रामबन जिले में भारी हिमपात और कई भूस्खलनों के कारण पिछले तीन दिनों तक बंद रहने के बाद सोमवार को यातायात के लिए फिर से खुल गया.

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग तीन दिन बंद रहने के बाद फिर से खुला

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग सोमवार को यातायात के लिए फिर से खुल गया.

जम्मू:

जम्मू-श्रीनगरराष्ट्रीय राजमार्ग रामबन जिले में भारी हिमपात और कई भूस्खलनों के कारण पिछले तीन दिनों तक बंद रहने के बाद सोमवार को यातायात के लिए फिर से खुल गया. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, यातायात-राष्ट्रीय राजमार्ग, शबीर अहमद मलिक ने बताया कि श्रीनगर से यातायात को मंजूरी दी गई है. पंथियाल और मारूग में भूस्खलनों के बाद सड़कों से मलबे को साफ कराया गया जिसके बाद यातायात को मंजूरी दी गई. अधिकारी ने बताया, ‘‘यातायात की सुचारू आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए कुछ स्थानों पर मलबे को हटाने का काम चल रहा है.''

कश्मीर को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाले राजमार्ग को शुक्रवार दोपहर को बंद कर दिया गया. उसे कुछ समय पहले ही खोला गया था. चंदरकोट और रामसू के बीच भारी हिमपात और कई भूस्खलनों के कारण दो दिन तक राजमार्ग बंद रहा था. राजमार्ग के बंद होने के कारण विभिन्न स्थानों पर 50 से अधिक यात्री वाहन फंस गए थे. उन्हें शनिवार देर शाम को गंतव्यों की ओर जाने की अनुमति दी गई.

VIDEO : भारी बर्फबारी के बीच गर्भवती महिला को कंधे पर उठा जवानों ने पहुंचाया अस्पताल

अधिकारियों ने बताया कि सोमवार तड़के जम्मू से श्रीनगर की ओर वाहनों को जाने की अनुमति दी गई, जबकि श्रीनगर से जम्मू की ओर जाने वाले वाहनों को सुबह 11 बजे के बाद अनुमति दी गई.

भारी बर्फबारी के बीच कैसे LoC पर गश्त करते हैं सेना के जवान, देखकर आप भी कहेंगे ये हैं असली ‘सुपर हीरो'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने बताया कि ताजा भूस्खलनों के कारण उधमपुर में जाखनी और जम्मू में नगरोटा में यातायात कुछ समय के लिए रोक दिया गया था. सड़क साफ करने वाले प्राधिकारियों ने तेजी से रास्ता साफ कर दिया जिससे यातायात बहाल हो गया. उन्होंने बताया कि सड़क साफ कराने का अभियान अभी चल रहा है और इसके अगले कुछ घंटों में पूरा होने की संभावना है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)