आतंकी हमलों के बाद कश्मीर में कई बीजेपी कार्यकर्ताओं ने दिया इस्तीफा

बीजेपी के मीडिया प्रभारी मंजूर भट्ट ने कहा कि इन इस्तीफों का कोई असर नहीं होगा.हालांकि उनका कहना था कि पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं पर हमलों को गंभीरता से लिया है और उसने इन जिलों में अपने सदस्यों और उनके परिवारों के लिए सुरक्षित आवास तैयार करने का सुझाव दिया है.

आतंकी हमलों के बाद कश्मीर में कई बीजेपी कार्यकर्ताओं ने दिया इस्तीफा

कश्‍मीर में हाल में बीजेपी के कई कार्यकर्ताओं को आतंकियों ने निशाना बनाया है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

खास बातें

  • कुलगाम जिले में दो पंचायत सदस्‍यों, एक सरपंच का इस्‍तीफा
  • हंदवाड़ा, कुपवाड़ा, सोपोर में भी एक-एक कार्यकर्ता ने पद छोड़ा
  • कार्यकर्ताओं ने अपने और परिजनों के लिए सुरक्षित आवास मांगे
श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में ग्राम स्तर के नेताओं को हाल में आतंकियों द्वारा निशाना बनाए जाने के बाद करीब एक दर्जन भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेताओं (BJP Leaders) ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. इसके बाद पार्टी ने घाटी के हर जिले में अपने सदस्यों और उनके परिवारों को ‘हॉस्टल की तरह का' सुरक्षित आवास मुहैया कराने का सुझाव दिया है. बडगाम से भाजपा के ओबीसी मोर्चे के जिलाध्यक्ष अब्दुल हमीद नजर की सोमवार तड़के अस्पताल में मौत के बाद चिंताएं बढ़ गई हैं. नजर को एक दिन पहले ही उनके गांव में गोली मार दी गई थी.

बीजेपी के पंचायत सदस्यों और सरपंचों पर हाल के हमलों के बाद पिछले कुछ दिनों में कई कार्यकर्ताओं खासकर निचले स्तर के कार्यकर्ताओं के इस्तीफे की बात स्वीकार करते हुए पार्टी के एक नेता ने कहा कि इनमें से कुछ मध्य कश्मीर के बडगाम जिले से हैं.इन दिनों सोशल मीडिया पर बीजेपी नेताओं के इस्तीफे के ऐलान संबंधी पत्र और वीडियो पोस्ट किये जा रहे हैं. बीजेपी नेता ने कहा कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में पार्टी के दो पंचायत सदस्यों और एक सरपंच ने पार्टी से इस्तीफा दिया है.उन्होंने कहा, ‘‘ हंदवाड़ा, कुपवाड़ा और सोपोर से भी एक एक पार्टी कार्यकर्ता ने इस्तीफा दिया है.''


जम्‍मू-कश्‍मीर के नेता शाह फैसल ने सियासत छोड़ी, IAS से इस्‍तीफा देकर बनाई थी अपनी पार्टी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बीजेपी के मीडिया प्रभारी मंजूर भट्ट ने कहा कि इन इस्तीफों का कोई असर नहीं होगा.हालांकि उनका कहना था कि पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं पर हमलों को गंभीरता से लिया है और उसने इन जिलों में अपने सदस्यों और उनके परिवारों के लिए सुरक्षित आवास तैयार करने का सुझाव दिया है.भट ने कहा कि बीजेपी के जम्मू कश्मीर महासचिव (संगठन) अशोक कौल ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के सामने यह मामला उठाया और पार्टी की जम्मू कश्मीर इकाई को अब पूरा विश्वास है कि सदस्यों की सुरक्षा के लिए कदम उठाया जाएगा. वैसे कई बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं को सुरक्षा या व्यक्तिगत सुरक्षित आवास प्रदान किया लेकिन ज्यादातर का कहना है कि उन्हें अपने परिवार की भी देखभाल करनी हैं और वे उनके बगैर नहीं रह सकते .भट ने कहा, ‘‘ यह भी, कि वे अन्य जिले में रहकर काम नहीं कर सकते. ऐसे में हमने सुझाव दिया है कि ऐसी हत्याएं रोकने के लिए हर जिले में हॉस्टल की तरह का आवास जैसे मुख्यालय, भाजपा कार्यकर्ताओं और उनके परिवारों के लिए बनाया जाए.''
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)