एवलांच आने से पहले कैमरे में कैद नंदा देवी समिट करने गए पर्वतारोहियों का वीडियो आया सामने

नंदा देवी के पूर्व में 13 मई 2019 से 12 पर्वतारोहियों ने पर्वतारोहण अभियान शुरू किया था लेकिन इस दौरान दल एवलांच की चपेट में आ गया.

एवलांच आने से पहले कैमरे में कैद नंदा देवी समिट करने गए पर्वतारोहियों का वीडियो आया सामने

आईटीबीपी ने 7 शवों को निकाल लिया है जबकि एक शव अभी भी लापता है.

खास बातें

  • 13 मई 2019 से शुरु हुआ था पर्वतारोहण अभियान
  • 12 लोगों के दल में सिर्फ 4 लोग बच सके सुरक्षित
  • आईटीबीपी ने करीब एक महीने तक चलाया बचाव अभियान
नई दिल्ली:

नंदा देवी पीक समिट करने के दौरान जान गंवाने वाले पर्वतारोहियों का एवलांच से ठीक पहले एक्शन कैमरा में रिकॉर्ड किया गया एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो को आईटीबीपी ने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किया है. वीडियो में एक कतार में चल रहे पर्वतारोहियों को चलते हुए देखा जा सकता है. ये कैमरा आखिरी पर्वतारोही के हैलमेट पर लगा था, जो शव मिलने के साथ ही आईटीबीपी के जवानों के बर्फ में दबा मिला. आईटीबीपी ने इस एक मिनट 55 सेकेंड के वीडियो को पोस्ट करते हुए लिखा,  'नंदा देवी पूर्व के पास अनाम शिखर के पास पर्वतारोहियों की टीम का अंतिम दृश्य.  ITBP के पर्वतारोहियों की खोज टीम को 19 हजार फीट पर यह मेमोरी वीडियो डिवाइस मिला, जब वे उस इलाके की खोज कर रहे थे जहां शवों को देखा गया था.'

आईटीबीपी के उप महानिरीक्षक एपीएस नंबदिया ने कहा, "यह फुटेज देखना हमारे लिए चिंताजनक था."उन्होंने एक प्रेस ब्रीफिंग में बताया, "यह वीडियो हमें उनके मिशन में हुई गड़बड़ियों का विश्लेषण करने में मदद करेगा.''  उन्होंने कहा "GoPro पर्वतारोहियों के आखिरी कुछ क्षणों में एक विमान के ब्लैक बॉक्स की तरह साबित हुआ है."

नंदा देवी से पर्वतारोहियों के शव लाने में जुटी आईटीबीपी


बता दें नंदा देवी के पूर्व में 13 मई 2019 से 12 पर्वतारोहियों ने पर्वतारोहण अभियान शुरू किया था लेकिन इस दौरान दल एवलांच की चपेट में आ गया. इसमें 4 लोग सुरक्षित बच गए लेकिन बाकि 8 लोग एवलांच में फंस गए थे. इन आठ लोगों में चार ब्रिटिश, 2 अमेरिकी, एक आस्ट्रेलियाई और एक भारतीय नागरिक शामिल थे.  इनके शव चोटी पर देखे जाने के बाद आईटीबीपी पिछले दिनों 7 लोगों के शव निकाल चुकी है. टीम के लीडर मार्टिन मोरन का शव अभी भी लापता है. मृत लोगों में  जॉन चार्ल्स मैकलारेन, रिचर्ड पायने और रूपर्ट जेम्स व्हेवेल, अमेरिका के एंथनी एडवर्ड सुडेकम और रोनाल्ड इसाक बाइमेल तथा ऑस्ट्रेलिया की महिला पर्वतारोही रूथ मारग्रेट मैक केंस शामिल हैं और भारतीय पर्वतारोहण फाउंडेशन के जनसंपर्क अधिकारी चेतन पांडेय शामिल हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: 20 हजार फुट की ऊंचाई पर ITBP का सबसे खतरनाक बचाव अभियान