भारत व्यापार करने के लिए 'चुनौतीपूर्ण स्थान' बना हुआ है : अमेरिका

अमेरिकी विदेश विभाग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिन दो "विवादास्पद" फैसलों से चिह्नित थे. इसमें कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर से विशेष संवैधानिक दर्जा हटाना और सीएए को पारित करना.

भारत व्यापार करने के लिए 'चुनौतीपूर्ण स्थान' बना हुआ है : अमेरिका

वाशिंगटन:

संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) ने कहा है कि व्यापार करने के लिए भारत अभी भी "एक चुनौतीपूर्ण स्थान बना हुआ है".  इसके साथ ही अमेरिका ने निवेश के लिए बाधाओं को कम करने और नौकरशाही बाधाओं को कम करके एक आकर्षक और विश्वसनीय निवेश माहौल को बढ़ावा देने का आग्रह भारत से किया है.

अमेरिकी विदेश विभाग ने बुधवार को जारी एक रिपोर्ट "2021 इन्वेस्टमेंट क्लाइमेट स्टेटमेंट्स: इंडिया" में कहा कि भारत "व्यापार करने के लिए एक चुनौतीपूर्ण जगह बना हुआ है". रिपोर्ट में जम्मू और कश्मीर राज्य से विशेष संवैधानिक स्थिति को हटाने और नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) का भी उल्लेख किया गया है. 


रिपोर्ट में कहा गया है, "नए संरक्षणवादी उपाय, जिसमें बढ़े हुए टैरिफ, खरीद नियम शामिल हैं जो प्रतिस्पर्धी विकल्पों को सीमित करते हैं, और सैनिटरी व फाइटोसैनिटरी मानक विज्ञान पर आधारित नहीं है, भारतीय-विशिष्ट मानकों भी अंतरराष्ट्रीय मानकों के साथ संरेखित नहीं किए गए हैं." रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में  वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला से उत्पादकों को प्रभावी ढंग से बंद कर दिया गया है और द्विपक्षीय में व्यापार के विस्तार को प्रतिबंधित कर दिया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अमेरिकी विदेश विभाग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिन दो "विवादास्पद" फैसलों से चिह्नित थे. इसमें कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर से विशेष संवैधानिक दर्जा हटाना और सीएए को पारित करना. रिपोर्ट में कहा गया है, भारत का कहना है कि सीएए उसका "आंतरिक मामला" है और "किसी भी विदेशी पार्टी का भारत की संप्रभुता से संबंधित मुद्दों पर दखल देने का कोई अधिकार नहीं है".