कितने देशों में सामने आए हैं ओमिक्रॉन वेरिएंट के मामले? NDTV के सवाल का WHO ने दिया जवाब...

WHO ने कहा है कि ''ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, बोत्सवाना, कनाडा, हांग कांग, चेक गणराज्य, डेनमार्क, इजरायल, इटली, नीदरलैंड, दक्षिण अफ्रीका, ब्रिटेन ने अपने देश में ओमिक्रॉन की मौजूदगी की खबर दी है. इसमें से ज्यादातर मामले ट्रेवलर्स के हैं.

कितने देशों में सामने आए हैं ओमिक्रॉन वेरिएंट के मामले? NDTV के सवाल का WHO ने दिया जवाब...

ओमिक्रॉन वायरस को लेकर भारत में भी विदेश यात्रियों के लिए गाइडलाइन जारी की गई

नई दिल्ली:

साउथ अफ्रीका में मिले कोरोना के नए वेरिएंट (omicron)  के कारण पूरी दुनिया टेंशन में आ गई है. इसी बीच मुंबई से नज़दीक डोंबिवली में साउथ अफ्रीका से लौटा एक शख़्स कोविड पॉज़िटिव मिला है तो मुंबई से नज़दीक भिवंडी के वृद्धाश्रम में 67 लोग कोरोना पॉजिटिव हुए हैं. बीएमसी ने सतर्कता बढ़ाते हुए नई गाइडलाइन जारी की हैं. कोविड जंबो सेंटर फिर बेड और स्टाफ़ बढ़ाने में लग चुके हैं. अब तक दुनिया के अलग-अलग देशों में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के क़रीब 160 मामले रिपोर्ट हुए हैं. भारत में फ़िलहाल इसकी मौजूदगी नहीं है पर एहतियातन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विदेशों से भारत आने वाले यात्रियों को लेकर ट्रैवल गाइडलाइन (Travel Guideline) में बदलाव किया है. 

'मामूली लक्षण, कोई भी अस्पताल में भर्ती नहीं' : बोले ओमिक्रॉन वैरिएंट पर अलर्ट करने वाले डॉक्टर

इसी को लेकर NDTV संवाददाता ने WHO पूछा था कि कितने देशों ने ओमिक्रॉन वेरिएंट की मौजूदगी की सूचना दी है और संक्रमित लोगों की संख्या क्या है? क्या इस वेरिएंट के कारण किसी की मौत की सूचना है?

WHO ने इसका जवाब देते हुए कहा है कि ''हमें उम्‍मीद है कि अन्‍य देशों में भी इसके मामले सामने आएंगे क्‍योंकि वहां जांच और निगरानी बढ़ाई गई है.' विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, बोत्सवाना, कनाडा, हांग कांग, चेक गणराज्य, डेनमार्क, इजरायल, इटली, नीदरलैंड, दक्षिण अफ्रीका, ब्रिटेन ने अपने देश में ओमिक्रॉन की मौजूदगी की खबर दी है. इसमें से ज्यादातर मामले ट्रेवलर्स के हैं.

WHO ने कहा है कि अन्य देशों ने या तो संदिग्ध या पुष्ट मामलों की सूचना दी है जिसके लिए हम आधिकारिक अधिसूचना और जीआईएसएआईडी प्रस्तुत करने की प्रतीक्षा कर रहे हैं, जो डब्ल्यूएचओ देशों को करने के लिए प्रोत्साहित करता है.


हालांकि विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने इस नए वेरिएंट से किसी की मौत होने के सवाल का कोई जवाब नहीं दिया. गौरतलब है कि कोरोना के इस नए वैरिएंट को लेकर सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है, जो 1 दिसंबर से लागू होगी. साथ ही विदेश यात्रियों के लिए निगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट दिखाना भी जरूरी होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारत आने वाले यात्रियों को बतानी होगी 14 दिन की ट्रैवल हिस्‍ट्री : स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की गाइडलाइन