हिमाचल प्रदेश सरकार ने भी 12वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द की, कोविड कर्फ्यू 14 जून तक बढ़ाया

शिमला में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में लिए गए फैसले, कोविड-19 के 818 नए मामले सामने आए

हिमाचल प्रदेश सरकार ने भी 12वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द की, कोविड कर्फ्यू 14 जून तक बढ़ाया

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • छात्रों के अवार्ड की गणना के लिए एक फॉर्मूला तैयार होगा
  • अनुकूल स्थिति होने पर होने वाली विशेष परीक्षा देने का विकल्प
  • हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 के 818 नए मामले सामने आए
शिमला:

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में राज्य सरकार ने शनिवार को वर्ष 2020-21 के लिए कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा (12th board exam) रद्द कर दी है. राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने यह बात कही है. इसके अलावा हिमाचल प्रदेश सरकार ने ''कोरोना कर्फ्यू'' को भी 14 जून तक बढ़ा दिया है. ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में यहां हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया. उन्होंने कहा कि वर्तमान ''कोरोना कर्फ्यू'', जो सात जून को समाप्त होना था, अब 14 जून को सुबह 6 बजे तक बढ़ा दिया गया है.

गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि 10+2 बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने पर कहा कि हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड सीबीएसई द्वारा तैयार किए जा रहे फॉर्मूले को ध्यान में रखते हुए छात्रों के अवार्ड की गणना के लिए एक फॉर्मूला तैयार करेगा. उन्होंने कहा कि यदि कुछ छात्र इस तरह से प्राप्त परिणामों से संतुष्ट नहीं हैं, तो उन्हें परीक्षा आयोजित करने के लिए अनुकूल स्थिति होने पर आयोजित की जाने वाली विशेष परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी.


गौरतलब है कि केंद्रीय शिक्षा बोर्ड सीबीएसई और आईसीएसई अपनी-अपनी 12वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द कर चुके हैं. इसके बाद ओडिशा, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गोवा आदि राज्यों के शिक्षा बोर्डों ने भी अपनी 12वीं की परीक्षा रद्द कर दी है.   

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शनिवार को हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 के 818 नए मामले सामने आए. राज्य के स्वास्थ्य बुलेटिन में यह जानकारी दी गई है. हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 के 818 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,94,742 हो गई. वहीं 19 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 3,263 हो गई है. राज्य स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि यहां अब 9,484 मरीजों का उपचार चल रहा है.