वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश की अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक हैं: अधीर रंजन चौधरी

कांग्रेस नेता ने पूछा कि वित्त मंत्री बताएं कि मार्च 2020 से भारत के शीर्ष 100 अरबपतियों की यह आय कैसे बढ़ी जिसकी राशि 13.8 करोड़ लोगों को 94-94 हजार रुपये देने के लिये पर्याप्त है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश की अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक हैं: अधीर रंजन चौधरी

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कांग्रेस (Congress) ने शनिवार को आरोप लगाया कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) देश की अर्थव्यवस्था (Economy) के लिये हानिकारक हैं और उन्होंने चुनिंदा पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए आर्थिक सूचकांकों को नीचे किया. लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने शनिवार को संसद के निचले सदन में केन्द्रीय बजट (Union Budget 2021) पर चर्चा के दौरान वित्त मंत्री के जवाब पर प्रतिक्रिया देते हुए यह भी कहा कि वित्त मंत्री ने सवालों के जवाब देने के बजाय “राहुल गांधी के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणियां कीं.”

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण का राहुल गांधी पर पलटवार : हमारी मित्र आम जनता है, दामाद नहीं

चौधरी ने कहा, “वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश की अर्थव्यवस्था के लिये हानिकारक हैं. वह ऑक्सफेम की रिपोर्ट में हुए खुलासों के बारे में बोलें, जिसमें कहा गया है कि लॉकडाउन के दौरान भारतीय अरबपति 35 प्रतिशत तक अमीर हो गए हैं जबकि 84 प्रतिशत परिवारों की आय घट गई है और अकेले अप्रैल 2020 में ही 1.7 लाख लोग अपना रोजगार खो चुके हैं.” कांग्रेस नेता ने पूछा कि वित्त मंत्री बताएं कि मार्च 2020 से भारत के शीर्ष 100 अरबपतियों की यह आय कैसे बढ़ी जिसकी राशि 13.8 करोड़ लोगों को 94-94 हजार रुपये देने के लिये पर्याप्त है. चौधरी ने यह दावा भी किया कि जब सरकार और उसके मंत्री देश एवं अर्थव्यवस्था की स्थिति संभाल नहीं पा रहे हैं तो वे कांग्रेस नेताओं पर ‘अपमानजनक' टिप्पणियां कर रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘वह (सीतारमण) वित्त मंत्री नहीं, खीज मंत्री हैं. वह देश की अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री जी के साथ मिलकर देश को रसातल में पहुंचा दिया. इनका एक ही ध्येय है- हम दो, हमारे दो.''

उन्होंने कहा, ‘‘ऑक्सफैम की रिपोर्ट में कहा गया है कि लॉकडाउन के कारण भारत के अरबपति 35 फीसदी अमीर हो गए, जबकि करोड़ों आम लोगों की आय घट गई. हम वित्त मंत्री से पूछना चाहते हैं कि यह क्यों हुआ?'' उन्होंने आरोप लगाया कि इस सरकार ने पूंजीपतियों के लाखों करोड़ रुपये का कर्ज बट्टे खाते में डाल दिया, लेकिन किसानों के लिए बजट में कमी कर रही है. चौधरी ने कहा कि मनरेगा और दूसरी सामाजिक योजनाओं के लिए आवंटन में कटौती कर दी गई है. उन्होंने कहा, ‘‘जब देश की हालत और अर्थव्यवस्था को संभाल नहीं पाते हैं तो सरकार और उनके मंत्री हम पर गुस्सा होते हैं. आज वित्त मंत्री ने हमारे नेता राहुल गांधी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियां कीं. यह सरकार विपक्षी दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं का सम्मान नहीं करती.''

"मैडम, इस यू-टर्न पर क्या कहना है": जयराम रमेश ने निर्मला सीतारमण को दिया जवाब

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘भारत की वित्त मंत्री होने के नाते उन्हें सदन के भीतर असंसदीय कार्यों में शामिल नहीं होना चाहिए.'' उल्लेखनीय है कि लोकसभा में सरकार तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार करते हुए सीतारमण ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस नेता फर्जी विमर्श गढ़ते हैं, देश को तोड़ने वाली ताकतों के साथ खड़े होते हैं और संवैधानिक संस्थाओं का अपमान करते हैं. बजट पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि राहुल गांधी भारत के ‘डूम्सडे मैन' हैं.

Video: सीतारमण बोलीं, प्रधानमंत्री-राष्ट्रपति का लगातार अपमान करते रहे हैं राहुल गांधी


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)