Mumbai Cyclone Tauktae : खतरनाक हुआ चक्रवाती तूफान, मुंबई में बांद्रा- वर्ली सी लिंक और एयरपोर्ट बंद

ताउते तूफान के चलते मुंबई में कई एहतियात के कदम उठाए जा रहे हैं. गुजरात तट की ओर बढ़ रहा और इस दौरान मुंबई के करीब से गुजरेगा. सोमवार की सुबह ताउते को देखते हुए बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर गाड़ियों की आवाजाही रोक दी गई है. वहीं एयरपोर्ट भी बंद है.

मुंबई:

चक्रवाती तूफान ताउते (Cyclone Tauktae) सोमवार की तड़के सुबह से खतरनाक रूप ले चुका है. तूफान गुजरात तट की ओर बढ़ रहा और इस दौरान मुंबई के करीब से गुजरेगा, ऐसे में मुंबई में बचाव के कदम तेजी से उठाए गए हैं. सोमवार की सुबह ताउते को देखते हुए बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर गाड़ियों की आवाजाही रोक दी गई है. मुंबई मोनोरेल के ऑपरेशन को भी बंद किया गया है.

ऊपर से वर्ली इलाके में भारी बारिश के वजह से जल जमाव हुआ है. खास बात यह है कि यह वर्ली सी लिंक की ओर जाने वाली सड़क है, जहां जल जमाव आमतौर पर नहीं होता है. मुंबई में कल कई जगहों पर भारी बारिश हुई है. रविवार को ही मुंबई के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया था. आज भी कई जगहों पर तेज से भारी बारिश का अनुमान है. तेज हवाएं भी चल सकती हैं.

बृहन्मुंबई नगर निगम ने ट्वीट कर बताया है कि अगले आदेश तक के लिए बांद्र-वर्ली सी लिंक को बंद कर दिया गया है. बीएमसी ने लोगों को गैर-जरूरी वजहों से वैसे भी बाहर न निकलने की सलाह दी है. 

बीएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सी लिंक को बंद करने का फैसला तेज गति से चलने वाली हवाओं को देखते हुए लिया गया है. वहीं, मुंबई मोनोरेल ने भी एक ट्वीट कर बताया आज भर के लिए ऑपरेशन बंद कर दिया गया है. इसके अलावा आज सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक मुंबई एयरपोर्ट पर भी ऑपरेशन बंद किया गया है. स्पाइस जेट की एक चेन्नई-मुंबई रूट की एक फ्लाइट को सूरत के लिए डायवर्ट कर दिया गया है.


IMD यानी भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, तूफान आज सुबह मुंबई से अरब सागर में 160 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणी पश्चिम दूर बिंदू पर स्थित था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आईएमडी के चक्रवात चेतावनी विभाग के अनुसार, ‘पूर्व मध्य अरब सागर के ऊपर बना अत्यधिक भीषण चक्रवाती तूफान ताउते पिछले छह घंटों के दौरान लगभग 20 किमी प्रति घंटे की गति से उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ा, और अब यह विकराल चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है.' इसके कारण अब 180-190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं, जिसके 210 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तक चलने का अनुमान है. आईएमडी ने हालांकि कहा कि गुजरात तट पर पहुंचने पर इसकी विकरालता कम होगी.