महाराष्‍ट्र: बेड नहीं मिला तो मरीज ने ऑक्‍सीजन मास्‍क लगाकर दिया धरना, बाद में अस्‍पताल में हुई मौत..

महाराष्‍ट्र में कोरोना के केसों में तेजी से इजाफा हो रहा है. नौबत यहां तक आ पहुंची है कि कुछ अस्‍पतालों में बेड की कमी हो गई है.

महाराष्‍ट्र: बेड नहीं मिला तो मरीज ने ऑक्‍सीजन मास्‍क लगाकर दिया धरना, बाद में अस्‍पताल में हुई मौत..

COVID-19 Cases in Maharashtra: नासिक महानगरपालिका के सामने धरना देता हुआ 38 वर्षीय कोरोना मरीज

खास बातें

  • 38 वर्षीय पेशेंट ने नाशिक महानगरपालिका के सामने दिया धरना
  • एक घंटे के धरने के बाद एम्बुलेंस उन्‍हें ले गई म्यूनिसिपल अस्पताल
  • ऑक्‍सीजन लेवल कम होने के कारण रात 12 बजे हुई पेशेंट की मौत

Maharashtra Corona cases update: महाराष्‍ट्र में कोराना के लगातार बढ़ते केस उद्धव ठाकरे सरकार के लिए बड़ी चिंता का कारण बन गए है. राज्‍य के नासिक शहर में बेड न मिलने पर एक मरीज ने ऑक्‍सीजन मास्क के साथ धरना दिया. बाद में इस मरीज़ की मौत हो गई. नासिक में बेड नहीं मिलने के कारण 38 वर्षीय कोविड-19 पॉज़िटिव पेशेंट (बाबासाहेब) ने नासिक महानगरपालिका के सामने ऑक्‍सीजन मास्क में धरना दिया था. बुधवार शाम एक घंटे के धरने के बाद कॉर्पोरेशन की एम्बुलेंस उन्‍हें म्यूनिसिपल अस्पताल ले गई. रात में क़रीब 12 बजे इस मरीज का ऑक्‍सीजन लेवल 40% के क़रीब चला गया. देर रात क़रीब एक बजे अस्पताल में उसकी मौत हो गई.अब पुलिस और कॉर्परेशन इस बात की जाँच कर रही है कि पेशेंट को धरना देने के लिए किसने उकसाया.

"बिल्कुल ब्रिटेन जैसी स्थिति" : कोरोना मामलों में उछाल और नए स्ट्रेन पर बोले AIIMS चीफ

 गौरतलब है कि महाराष्‍ट्र में कोरोना के केसों में तेजी से इजाफा हो रहा है. नौबत यहां तक आ पहुंची है कि कुछ अस्‍पतालों में बेड की कमी हो गई है. कुछ दिन पहले नागपुर के एक अस्‍पताल के बेड में दो पेशेंट का फोटो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना था. जो फोटो सामने आया था, वह नागपुर के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (GMCH) का था.


मुंबई में कोरोना के मामलों में इजाफे के पीछे वायरस का एक वेरिएंट : NDTV से बोले BMC चीफ

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अधिकारियों के मुताबिक, प्राइवेट अस्‍पताल के तुलना में खर्च कम होने के कारण लोगों के सरकारी अस्‍पतालों की ओर रुख करने और डॉक्‍टरों द्वारा गंभीर मरीजों को GMCH रेफर किए जाने के कारण स्थिति और बिगड़ी है.हालांकि अस्‍पताल के शीर्ष अधिकारियों ने बताया था कि एक बेड पर दो पेशेंट वाली स्थिति को अब 'ठीक कर लिया' गया है.