Covid-19 Pandemic: लॉकडाउन के बीच यूपी में अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में 5 प्रवासी मजदूरों की मौत..

उत्तर प्रदेश में गुरुवार रात से हुई अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में पांच प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई और कई घायल हो गए. शुक्रवार सुबह दिल्ली से 102 किमी दूर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में एक दुर्घटना में दो प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई, ये मजदूर गुजरात के सूरत से यूपी के बिजनौर जा रहे थे.

Covid-19 Pandemic: लॉकडाउन के बीच यूपी में अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में 5 प्रवासी मजदूरों की मौत..

यूपी के मिर्जापुर में हुई सड़क दुर्घटना में तीन मजदूरों की मौत हो गई

लखनऊ:

Covid-19 Pandemic: उत्तर प्रदेश में गुरुवार रात से हुई अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में पांच प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई और कई घायल हो गए. शुक्रवार सुबह दिल्ली से 102 किमी दूर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में एक दुर्घटना में दो प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई, ये मजदूर गुजरात के सूरत से यूपी के बिजनौर जा रहे थे. जानकारी के अनुसार, बिजली के पोल से टकराने के बाद उनका मिनी ट्रक पलट गया. हादसे के विजुअल्स ने दो बच्चों के साथ एक महिला को एम्बुलेंस में बैठे दिखाया. उसकी गोद में एक बच्चा रो रहा है जबकि दूसरे बच्‍‍‍‍‍चे के सिर पर पट्टी बंधी हुई है.


एक अन्‍य हादसे में पूर्वी उत्तर प्रदेश में गुरुवार रात मिर्जापुर जिले में तीन प्रवासी श्रमिकों की मौत हो गई. वे टोयोटा इनोवा में मुंबई से बिहार जाने वाले सात लोगों के समूह का हिस्सा थे. हाईवे के किनारे ये अपना वाहर खड़ा कर सो रहे थे, इसी दौरान तेज रफ्तार डम्पर ने उन्हें कुचल दिया. राज्य की राजधानी लखनऊ से लगभग 180 किलोमीटर दूर औरैया जिले में 26 मजदूरों की मौत के बाद यूप ने प्रवासी मजदूरों के प्रवेश के लिए शनिवार को अपनी सीमाएं बंद कर दी हैं. राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वापसी करने वाले हर प्रवासी मजदूर को सुरक्षित पहुंचाने के लिए सरकारी बस की सुविधा प्रदान की जाएराज्य सरकार का दावा है कि लोगों को घर तक पहुंचाने के लिए 10,000 से अधिक सरकारी बसें राज्य की सीमाओं पर भेजी गई हैं.

VIDEO:  Red Zone में कुछ इस तरह से आगे बढ़ रही है जिंदगी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com