कोवैक्सीन में 2-18 वर्ष के बच्चों के लिए मजबूत सुरक्षा, प्रतिरक्षा देखी गई: अध्ययन

भारत बायोटेक ने 2-18 वर्ष की आयु के स्वस्थ बच्चों और किशोरों में कोवैक्सीन संबंधी सुरक्षा, प्रतिक्रिया और प्रतिरक्षण क्षमता का मूल्यांकन करने के लिए चरण दो और तीन का बहुकेंद्रीय अध्ययन किया था.

कोवैक्सीन में 2-18 वर्ष के बच्चों के लिए मजबूत सुरक्षा, प्रतिरक्षा देखी गई: अध्ययन

डीसीजीआई ने 12-18 आयु वर्ग के बच्चों के लिए कोवैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की अनुमति दी

हैदराबाद:

भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड (BBIL) गुरुवार को घोषणा की कि बीबीवी152 कोवैक्सीन (Covaxin) टीका बच्चों के मामले में चरण दो और चरण तीन के अध्ययन में सुरक्षित और अच्छी प्रतिरक्षा उपलब्ध कराने वाला साबित हुआ है. टीका निर्माता ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि भारत बायोटेक ने 2-18 वर्ष की आयु के स्वस्थ बच्चों और किशोरों में कोवैक्सीन संबंधी सुरक्षा, प्रतिक्रिया और प्रतिरक्षण क्षमता का मूल्यांकन करने के लिए चरण दो और तीन का बहुकेंद्रीय अध्ययन किया था. भारत बायोटेक (Bharat Biotech) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्णा एला ने कहा, ‘‘बच्चों में कोवैक्सीन का चिकित्सीय ​​​​परीक्षण डेटा बहुत उत्साहजनक है.

Covaxin ने ट्रायल के दौरान बच्चों में अच्छी इम्युन रिस्पॉन्स दिखाई : Covid पैनल चीफ

बच्चों के लिए टीके से संबंधित सुरक्षा महत्वपूर्ण है और हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि कोवैक्सीन अब बच्चों में सुरक्षा एवं प्रतिरक्षण क्षमता के लिहाज से बेहतर साबित हुआ है. हमने अब वयस्कों और बच्चों के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी कोविड-19 टीका विकसित करने के अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लिया है.''

15-18 साल के बच्चों को कोरोना के खिलाफ टीकाकरण में कोवैक्सीन ही लगने के आसार

इस साल जून-सितंबर के बीच बच्चों पर किए गए टीके के चिकित्सीय ​​​​परीक्षणों में मजबूत सुरक्षा और प्रतिरक्षा दिखी है. अक्टूबर 2021 के दौरान इसका डेटा केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) को सौंपा गया था और हाल ही में भारतीय औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने 12-18 आयु वर्ग के बच्चों के लिए कोवैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की अनुमति प्रदान कर दी थी. विज्ञप्ति में कहा गया कि अध्ययन में किसी गंभीर प्रतिकूल घटना की सूचना नहीं मिली.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अफवाह बनाम हकीकत: कोवैक्‍सीन कितनी है कारगर? रियल वर्ल्‍ड स्‍टडी में खुलासा



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)