दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, 1 हफ्ते के लिए बढ़ सकता है लॉकडाउन: सूत्र

दिल्ली में नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन और पूर्ण लॉकडाउन सब बारी-बारी से लगाये जा चुके हैं लेकिन अभी तक किसी का कोई सकारात्मक नतीजा निकलता हुआ नहीं दिखाई दे रहा है

दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, 1 हफ्ते के लिए बढ़ सकता है लॉकडाउन: सूत्र

दिल्ली सरकार ने छह दिन के लिए लॉकडाउन लगाया था, जो सोमवार की सुबह 5 बजे खत्म हो जाएगा.

नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना वायरस का कहर जारी है. इस महामारी के प्रकोप को कम करने के लिए दिल्ली सरकार ने छह दिन के लिए लॉकडाउन लगाया था, जो सोमवार की सुबह 5 बजे खत्म हो जाएगा. इस बीच सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में 1 हफ्ते के लिए लॉकडाउन बढ़ सकता है. दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 32% से ऊपर चल रहा है, ऑक्सीजन का संकट बना हुआ है, बेड्स की भी किल्लत है जिसके चलते फ़िलहाल सरकार को लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा और कोई रास्ता नहीं दिख रहा है. बता दें कि 19 अप्रैल की रात 10:00 बजे से दिल्ली में लॉकडाउन शुरू हुआ था, 26 अप्रैल की सुबह 5:00 बजे तक मौजूदा लॉकडाउन की अवधि है. संक्रमण की कड़ी को तोड़ने और स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत करने के लिए यह लॉकडाउन लागू किया गया था. 

कोविड-टीके की लागत राज्य सरकारें नहीं केन्द्र वहन करे: अरविन्द सुब्रमण्यनन

दिल्ली में नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन और पूर्ण लॉकडाउन सब बारी-बारी से लगाये जा चुके हैं लेकिन अभी तक किसी का कोई सकारात्मक नतीजा निकलता हुआ नहीं दिखाई दे रहा है. दिल्ली में 5-11 अप्रैल के बीच रोज़ाना औसत 6969 कोरोना मामले सामने आए, रोज़ाना औसत 29 मरीज़ों की मौत हुई और औसत पाजिटिविटी रही 7.44% जबकि 12-18 अप्रैल के बीच रोज़ाना औसत 18,323 मामले सामने आए, रोज़ाना लगभग 120 मरीज़ों की मौत हुई और औसत पॉजिटिविटी रेट 19.38% रहा. 19-24 अप्रैल के बीच रोज़ाना 25,220 औसत मामले सामने आए जबकि इस दौरान रोज़ाना लगभग 296 मरीज़ों की मौत हुई और औसत पॉजिटिविटी रेट 31.85% दर्ज किया गया. यह आंकड़े बताते हैं कि दिल्ली में कोरोना का ग्राफ लगातार ऊपर की तरफ है. नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन या फुल लॉकडाउन का यहां फ़िलहाल कोई असर नहीं पड़ रहा. दिल्ली की हालत यह है कि यहां आज तक कुल 10,04,782 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं जिसमें से 3,42,352 मामले केवल अप्रैल के 24 दिनों में सामने आ गए हैं यानी कुल कोरोना के 34% मामले अप्रैल के 24 दिनों में रिपोर्ट हुए हैं. दिल्ली में इस महीने 24 दिनों में 2871 लोगों की मौत हो चुकी है जो कि दिल्ली में हुई अब तक कुल मौत का 21% है. दिल्ली में अब तक कुल 13,989 मरीज़ों की कोरोना से जान जा चुकी है.

देर रात दिल्ली के दो अस्पतालों ने कहा- कुछ ही देर की है ऑक्सीजन, कई मरीजों की जिंदगी खतरे में

दिल्ली सरकार के एक सूत्र ने कहा, ''छोटी अवधि के लॉकडाउन का मकसद मामलों की संख्या को काबू करने के साथ ही स्वास्थ्य ढांचे को मजबूती देने के लिए समय हासिल करना था. हालांकि, परिस्थितियां खराब से बदतर हो गई हैं. ऐसे हालात में एक और सप्ताह के लिए लॉकडाउन को विस्तार देना एक संभव विकल्प है.'' उधर, दिल्ली में शनिवार को फिर रिकॉर्ड मौत दर्ज की गई हैं. पिछले 24 घंटों में 357 मरीज़ों की मौत कोरोना वायरस से हुई है, जो कि अब तक सबसे ज्यादा है. वहीं, इस दौरान कोरोनावायरस के 24,103 नए मामले दर्ज किए गए हैं. इसके साथ ही संक्रमण दर 32% से ऊपर पहुंच गई है. सक्रिय केसों की बात करें तो यह आंकड़ा 93,000 पार कर चुका है, वहीं अब कुल कोरोना मामले 10 लाख के पार हो चुके हैं. यहां रिकवरी रेट 89.35 फीसदी,  डेथ रेट 1.38 फीसदी और पॉजिटिविटी रेट 32.27 फीसदी है. वहीं, पिछले 24 घंटे में 22,695 मरीजों ने कोरोना को मात दी है. इसके साथ ही अब तक कुल ठीक हुए मरीज की संख्या 8,97,805 पहुंच गई है. आज हुई 357 मरीजों की मौत के साथ ही अब तक हुई कुल मौत का आंकड़ा 13,898 हो गया है. 

Covaxin की कीमत प्राइवेट अस्पतालों के लिए 1,200 और राज्यों के लिए 600 रुपये : भारत बायोटेक

एक अन्य खबर के मुताबिक आम आदमी पार्टी के दिल्ली के तिमारपुर से विधायक दिलीप पांडे कोरोना संक्रमित हुए हो गए हैं. उनके साथ ही उनकी पत्नी भी कोरोना संक्रमित पाई गई हैं. कोरोना काल मे राशन, दवा, प्लाज्मा आदि जैसी चीजें जरूरतमंद लोगों को मुहैया कराने में दिलीप पांडेय शुरू से आगे रहे हैं. 
(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट)


दिल्ली में ऑक्सीजन के लिए हाहाकर, अस्पताल में 25 मरीजों की मौत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com