देश में कोरोना के टीके की दूसरी डोज़ देने का सिलसिला शुरू हुआ

कोरोना से बचाव के लिए अब तक 80 लाख 52 हजार से अधिक टीके लगाए गए, स्वास्थ्य कर्मियों को कुल 59,35,275 टीके लगाए गए

देश में कोरोना के टीके की दूसरी डोज़ देने का सिलसिला शुरू हुआ

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

COVID Vaccination Update: कोरोना वायरस से बचाव के लिए अब तक देश में कुल 80,52,454 टीके लगे हैं. अब तक स्वास्थ्य कर्मियों को कुल 59,35,275 टीके लगे हैं. देश में 59,27,607 स्वास्थ्य कर्मियों को पहला टीका लगा, जबकि 7668 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरा टीका लगा. अब तक 21,17,179 फ्रंटलाइन वर्कर को टीका लगाया जा चुका है. इसकी शुरुआत 2 फरवरी को हुई थी.

आज से देश में कोरोना के टीके की दूसरी डोज़ देने का काम शुरू हुआ है. देश में 16 जनवरी से स्वास्थ्य कर्मियों को टीका देना शुरू हुआ था इसलिए 28 दिन पूरा होने के बाद आज शनिवार से उनको दूसरी डोज़ देना शुरू किया गया. ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के मुताबिक टीके की पहली डोज देने के 4 से 6 हफ्ते के भीतर दूसरी डोज़ लगाई जानी चाहिए ताकि टीकाकरण पूरा हो सके.

हॉस्पिटलाइजेशन - अब तक टीका लगने के बाद 34 मामले हॉस्पिटलाइजेशन के आए हैं. इन 34 में से 21 को ट्रीटमेंट के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है, दो का अभी ट्रीटमेंट चल रहा है जबकि 11 की मौत हो चुकी है. 

पिछले 24 घंटों में टीका लगने के बाद 3 मौतों के मामले सामने आए हैं. अब तक टीका लगने के बाद कुल मौत का आंकड़ा 27 हो चुका है (11 मौतें अस्पताल में हुईं जबकि 16 मौतें अस्पताल के बाहर).

मौतों के नए मामले 
1. हरदा, मध्य प्रदेश के 38 वर्षीय पुरुष को दिल का दौरा पड़ा और टीका लगने के 9 दिन बाद आज मौत हुई.

2. पानीपत, हरियाणा की 35 वर्षीय महिला के फेफड़े में दोनों तरफ निमोनिया का मामला सामने आया था. साथ में एक्यूट रेस्पिरेट्री डिस्ट्रेस सिंड्रोम भी था. इनको आठ दिन पहले टीका लगा था. इनकी पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आना अभी बाकी है


3. दौसा, राजस्थान के 58 वर्षीय पुरुष अपनी ड्यूटी के दौरान आज गिर पड़े. उनको अस्पताल में मृत लाया गया. पोस्टमार्टम की डिटेल अभी आना बाकी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कोई भी मौत वैक्सीनेशन के चलते नहीं हुई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली में आज कुल 13,768 टीके लगे. इनमें से 11,912 स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स को पहली बार टीके लगे. जबकि 1856 स्वास्थ्यकर्मियों को दूसरी बार टीका लगाया गया.