बिना हेल्मेट कांग्रेस कार्यकर्ता संग स्कूटी से पूर्व IPS दारापुरी के घर गईं थीं प्रियंका गांधी, यूपी पुलिस ने काटा चालान

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) शनिवार को जिस स्कूटी पर बैठकर लखनऊ के इंदिरानगर स्थित पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के परिजनों से मिलने उनके घर गईं थीं उसका चालान कट गया है.

बिना हेल्मेट कांग्रेस कार्यकर्ता संग स्कूटी से पूर्व IPS दारापुरी के घर गईं थीं प्रियंका गांधी, यूपी पुलिस ने काटा चालान

प्रियंका गांधी बिना हेल्मेट जिस स्कूटी पर बैठकर IPS दारापुरी के घर गई थीं उसका कटा चालान.

खास बातें

  • स्कूटी से दारापुरी के घर गईं थी प्रियंका
  • कांग्रेस नेता धीरज गुर्जर चला रहे थे स्कूटी
  • यूपी पुलिस ने काटा 6300 रुपये का चालान
नई दिल्ली:

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) शनिवार को जिस स्कूटी पर बैठकर लखनऊ के इंदिरानगर स्थित पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के परिजनों से मिलने उनके घर गईं थीं उसका चालान कट गया है. उत्तर प्रदेश की ट्रैफिक पुलिस ने स्कूटी चला रहे धीरज गुर्जर का 6300 रुपये का चालान काटा है. दरअसल, इस दौरान प्रियंका गांधी और स्कूटी चला रहे शख्स धीरज गुर्जर ने हेल्मेट नहीं पहना था. इसी कारण लखनऊ ट्रैफिक पुलिस ने ये चालान काटा है. इससे पहले उन्हें रोकने की कोशिश की गई थी. बता दें कि कांग्रेस के स्थापना दिवस के मौक़े पर लखनऊ पहुंची प्रियंका गांधी को उस समय उत्तर प्रदेश की पुलिस का सामना करना पड़ा था जब वह पूर्व IPS दारापुरी से मिलने जा रही थीं. प्रियंका का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें जगह-जगह रोकने की कोशिश की. उनका आरोप है कि लोहिया पथ पर उनका गला पकड़ा गया और उन्हें धक्का दिया गया. इसके बाद प्रियंका कांग्रेस नेता धीरज गुर्जर की स्कूटी पर सवार होकर आगे बढ़ीं. जहां फिर उन्हें रास्ते में रोका गया. आख़िर में कुछ पैदल चलते हुए वो इंदिरानगर स्थित दारापुरी के घर पहुंचीं और उनके परिजनों से मुलाकात की. 


 

0o65sol8


प्रियंका गांधी ने कहा कि दारापुरी 77 साल के पूर्व पुलिस अधिकारी हैं. उन्होंने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन के लिये फेसबुक पर पोस्ट डाली थी. इसके बावजूद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. उनकी बीवी बहुत बीमार हैं. यह सब किसलिये? क्योंकि आपकी नीति उन्हें पसंद नहीं है?

प्रियंका गांधी ने यूपी पुलिस पर लगाया बदसलूकी का आरोप, कहा- 'मुझे घेरा, गला दबाया और धक्का दिया'

कांग्रेस महासचिव ने अपने फेसबुक पेज पर भी यही बात लिखते हुए कहा ''मगर मेरा निश्चय अटल है. मैं उत्तर प्रदेश में पुलिस दमन का शिकार हुए हरेक नागरिक के साथ खड़ी हूं. मेरा सत्याग्रह है. भाजपा सरकार कायरों वाली हरकत कर रही है. मैं उत्तर प्रदेश की प्रभारी हूं और मैं प्रदेश में कहां जाऊंगी ये भाजपा सरकार नहीं तय करेगी.'' 


प्रियंका गांधी के साथ 'धक्कामुक्की' के बाद आया कांग्रेस का बयान, 'यूपी में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: पुलिस वालों ने मेरा गला पकड़ा: प्रियंका गांधी