9 मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण स्वास्थ्य सुविधा के अभाव में दम तोड़ने वालों को श्रद्धांजलि: सीएम योगी

पीएम मोदी ने सोमवार को सिद्धार्थनगर में बने मेडिकल कॉलेज और एटा, हरदोई, प्रतापगढ़, फतेहपुर, देवरिया, गाजीपुर, मिर्जापुर और जौनपुर के मेडिकल कॉलेजों को भी डिजिटल माध्यम से लोकार्पित किया.

9 मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण स्वास्थ्य सुविधा के अभाव में दम तोड़ने वालों को श्रद्धांजलि: सीएम योगी

प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को सिद्धार्थनगर में बने मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण किया

वाराणसी:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा सोमवार को राज्य के सिद्धार्थनगर (Sidharthnagar) समेत नौ जिलों में मेडिकल कॉलेजों (Medical College) के लोकार्पण को आजादी के बाद स्वास्थ्य सुविधा के अभाव में दम तोड़ने वालों के प्रति श्रद्धांजलि करार दिया. प्रधानमंत्री द्वारा वाराणसी में शुरू किए गए ‘पीएम आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन' की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह नए भारत के नए हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर की दिशा में एक कदम है. स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देते हुए प्रधानमंत्री ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से 64,000 करोड़ रुपये से अधिक के पीएम आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन और सिद्धार्थनगर से नौ मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन किया।.

इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि ऐसा लगता है, जैसे स्वास्थ्य सुविधा के लिए इस पूरे क्षेत्र में अहिल्या की तरह किसी राम का इंतजार आज यहां खत्म हुआ. उत्तर प्रदेश और देश को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का नेतृत्व मिला. आज एक भारत, श्रेष्ठ भारत बल्कि एक स्वस्थ और समर्थ भारत के रूप में देश को रखने का जो काम इस समय प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हो रहा है, वह अभूतपूर्व है. स्वास्थ्य सुविधा क्या होती है, आजादी के पहले ऐसी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी, लेकिन आजादी के बाद भी जो उपेक्षा हुई, जिस स्वास्थ्य सुविधा के अभाव में यहां के नागरिक दम तोड़ते थे, आजादी के बाद पहली बार इस पीड़ा को अपने संवेदनशील और एक विजनरी नेतृत्व के माध्यम से न केवल समझने बल्कि उसके अनुरूप योजनाएं बनाकर कैसे प्रभावी ढंग से लागू करना है, यह नौ मेडिकल कॉलेजों का एक साथ उद्घाटन इस बात का प्रमाण है. 

धान न खरीदे जाने से बिफरे BJP नेता ने कहा-जनता चुनाव में सबक सिखाएगी, प्रियंका व वरुण गांधी ने उठाया मुद्दा

उन्होंने कहा कि वर्ष 1947 से 2016 तक उत्तर प्रदेश में सरकारी क्षेत्र में सिर्फ 12 मेडिकल कॉलेज बन पाए थे. आज प्रधानमंत्री की अनुकंपा से प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत उत्तर प्रदेश में 30 मेडिकल कॉलेज खुल रहे हैं. राज्य सरकार ने भी अपने संसाधनों से कुछ जिलों में इस कार्य को आगे बढ़ाया है. सीएम योगी ने दावा किया कि पूर्वांचल में धीरे-धीरे स्वास्थ्य का ढांचा मजबूत हुआ, हर घर को शौचालय देने की कार्रवाई आगे बढ़ी और साफ पानी की आपूर्ति होती गई. इससे दिमागी बुखार से होने वाली मौतों को 95 फीसद तक नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त हुई है. 


गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को सिद्धार्थनगर में बने मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण किया. साथ ही वहीं से एटा, हरदोई, प्रतापगढ़, फतेहपुर, देवरिया, गाजीपुर, मिर्जापुर और जौनपुर के मेडिकल कॉलेजों को भी डिजिटल माध्यम से लोकार्पित किया. इन मेडिकल कॉलेजों का निर्माण 2329 करोड़ रुपए की कुल लागत से किया गया है.

भारत में पिछले 24 घंटे में 14,306 नए COVID-19 केस, कल से 10 प्रतिशत कम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएम मोदी ने माधव प्रसाद त्रिपाठी मेडिकल कॉलेज सिद्धार्थनगर की फोटो प्रदर्शनी और मॉडल को भी देखा और फोटो प्रदर्शनी ''बुद्ध के जीवन दृश्य और खुदाई स्थल कपिलवस्तु-एक झलक'' का अवलोकन किया. इनमें से आठ मेडिकल कॉलेज केंद्र प्रायोजित योजना के तहत स्वीकृत किए गए हैं, जबकि जौनपुर में मेडिकल कॉलेज को राज्य सरकार ने अपने संसाधनों से तैयार कराया है. सीएम योगी ने कहा कि जिस पूर्वांचल की छवि पिछली सरकारों द्वारा खराब की गई थी और इंसेफेलाइटिस से हुई मौतों के कारण बदनामी हुई थी, वही पूर्वांचल पूर्वी भारत को स्वास्थ्य की नई रोशनी देने जा रहा है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)