कर्नाटक में धर्मांतरण विरोधी बिल के विवाद के बीच एक बार फिर सामने आई चर्च में तोड़फोड़ की घटना

बेंगलुरु से लगभग 65 किलोमीटर दूर सुसैपल्या ( Susaipalya) में चर्च में घटना को अंजाम दिया गया है

बेंगलुरु :

दक्षिणी कर्नाटक के चिक्कबल्लापुर जिले ( Chikkaballapur district) में एक चर्च में तोड़फोड़ की गई है. घटना 160 साल पुराने सेंट जोसेफ चर्च में हुई है. बताया जा रहा है कि सेंट एंथोनी की स्टैच्यू तोड़ दी गई है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. घटना के संबंध में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. चर्च के पुजारी फादर जोसेफ एंथोनी डैनियल ने NDTV को बताया कि राज्य की राजधानी बेंगलुरु से लगभग 65 किलोमीटर दूर सुसैपल्या ( Susaipalya)में चर्च घटना को अंजाम दिया गया. 

'वीडियो से छेड़छाड़, आरोप निराधार', चर्च हमलों पर बोले कर्नाटक के मंत्री

चर्च में एक व्यक्ति को सुबह 5.40 बजे घटना के बारे में पता चला. इस घटना के बाद फादर जोसेफ ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना पहले कभी नहीं हुई थी. बता दें कि हाल के हफ्तों में कर्नाटक के विभिन्न हिस्सों में चर्च में कुछ इस तरीके की घटनाएं सामने आई हैं. अभी हाल ही में कर्नाटक के दक्षिण में मंगलौर के पास सेंट जोसेफ़ चर्च में तोड़फोड़ की खबर सामने आई थी. 

'पहले असम, फिर पंजाब, अब उत्तराखंड, भोग पूरा ही...' : हरीश रावत पर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी का तंज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि  विधानसभा के चल रहे सत्र में एक नया विधेयक पेश किया गया है, जिसे कर्नाटक प्रोटेक्शन ऑफ राइट टू फ्रीडम बिल कहते हैं. सरकार का कहना है कि बिल का उद्देश्य जबरन धर्मांतरण को रोकना है. लेकिन आलोचकों का कहना है कि यह राज्य में अल्पसंख्यकों को निशाना बना रहा है. इस बिल के खिलाफ राज्य में विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है.