चीन द्वारा हाइपरसोनिक मिसाइल का टेस्‍ट सोवियत संघ के पहले उपग्रह स्पुतनिक के लॉन्‍च जैसा:  शीर्ष अमेरिकी जनरल

ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के चेयरमैन मार्क मिले ने कहा कि मुझे नहीं पता कि यह बिलकुल स्पुतनिक जैसा क्षण है, लेकिन मुझे लगता है कि यह उसके बहुत करीब है. यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण तकनीकी घटना है और इस पर हमारा पूरा ध्यान है.

चीन द्वारा हाइपरसोनिक मिसाइल का टेस्‍ट सोवियत संघ के पहले उपग्रह स्पुतनिक के लॉन्‍च जैसा:  शीर्ष अमेरिकी जनरल

मार्क मिले ने पहली बार चीनी परमाणु-सक्षम मिसाइल के परीक्षण की पुष्टि की है. (फाइल)

वाशिंगटन:

पेंटागन के शीर्ष जनरल ने बुधवार को कहा कि चीन द्वारा हाल ही में पृथ्वी का चक्कर लगाने वाली हाइपरसोनिक मिसाइल का टेस्‍ट सोवियत संघ द्वारा 1957 में दुनिया के पहले उपग्रह स्पुतनिक के आश्चर्यजनक लॉन्‍च के समान था, जिसने महाशक्तियों की अंतरिक्ष दौड़ को गति दी. ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के चेयरमैन मार्क मिले ने पहली बार चीनी परमाणु-सक्षम मिसाइल के परीक्षण की पुष्टि करते हुए कहा कि इसका बचाव करना बहुत मुश्किल होगा. 

मिले ने ब्‍लूमबर्ग टीवी को बताया, "हमने जो देखा वह एक हाइपरसोनिक हथियार प्रणाली के परीक्षण की बहुत महत्वपूर्ण घटना थी और यह बहुत ही चिंताजनक है. उन्‍होंने कहा, "मुझे नहीं पता कि यह बिलकुल स्पुतनिक जैसा क्षण है, लेकिन मुझे लगता है कि यह उसके बहुत करीब है. यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण तकनीकी घटना है और इस पर हमारा पूरा ध्यान है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अमेरिका के रक्षा विभाग ने पहले परीक्षण की पुष्टि करने से इनकार कर दिया था, जिसे 16 अक्‍टूबर को पहली बार फाइनेंशियल टाइम्स ने रिपोर्ट किया था. अखबार ने कहा था कि अगस्त परीक्षण लॉन्च ने वाशिंगटन को आश्चर्यचकित कर दिया है.