कृषि कानूनों को वापस लेकर केंद्र सरकार किसानों को तोहफा दे तो बेहतर होगा : मायावती

मायावती ने उत्‍पाद कर घटाये जाने के सरकार के फैसले का जिक्र करते हुए कहा कि यदि तीनों विवादित कृषि कानूनों को वापस लेकर केन्द्र सरकार देश के किसानों को भी दीवाली का तोहफा दे, तो बेहतर होगा.

कृषि कानूनों को वापस लेकर केंद्र सरकार किसानों को तोहफा दे तो बेहतर होगा : मायावती

मायावती ने कहा कि भाजपा का नारा है 'सबका साथ, सबका विकास व सबका विश्वास', लोग इस पर कैसे विश्वास करें. (फाइल)

लखनऊ:

बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) ने उत्‍पाद कर घटाये जाने के सरकार के फैसले का जिक्र करते हुए कहा कि यदि तीनों विवादित कृषि कानूनों (Agricultural Laws) को वापस लेकर केन्द्र सरकार (Central Government) देश के किसानों को भी दीवाली का तोहफा दे, तो बेहतर होगा. बसपा प्रमुख ने रविवार को ट्वीट किया, ‘‘भाजपा का नारा है, ‘सबका साथ, सबका विकास व सबका विश्वास',  लेकिन लोग इस नारे को जुमला न मानकर इस पर कैसे विश्वास करें, जब देश के किसान तीन कृषि कानूनों की वापसी को लेकर लम्बे समय से तीव्र आन्दोलित एवं आक्रोशित भी हैं.''

मायावती ने एक और ट्वीट कर कहा, ‘‘केंद्र सरकार ने तीन साल में पहली बार उत्पाद कर थोड़ा घटाकर लोगों को इस बार दीवाली पर कुछ राहत का तोहफा दिया है. उसी प्रकार दीवाली के बाद ही सही यदि तीनों विवादित कृषि कानूनों को वापस लेकर केन्द्र सरकार देश के किसानों को भी दीवाली का तोहफा दे देती है तो यह बेहतर ही होगा.''


गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने दीवाली की पूर्व संध्‍या को पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमश: पांच रुपये और 10 रुपये की कटौती की. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


UP विधानसभा चुनाव: सपा-BJP पर बरसीं मायावती, बोलीं- BSP की सरकार तय