राजस्थान में जीजा-साले को मिला मंत्रिपद, अशोक गहलोत की सरकार में संभालेंगे ये अहम जिम्मेदारी

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वित्त, गृह, सूचना एवं जनसंपर्क, राज्य अनुसंधान ब्यूरो, कैबिनेट सचिवालय, सामान्य प्रशासन, कर विभाग अपने पास रखे हैं.

राजस्थान में जीजा-साले को मिला मंत्रिपद, अशोक गहलोत की सरकार में संभालेंगे ये अहम जिम्मेदारी

नई दिल्ली:

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Rajasthan CM Ashok Gehlot) ने मंत्रिमंडल का पुनर्गठन करने के बाद विभागों का बंटवारा भी कर दिया है. मंत्रिमंडल में पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) के पांच करीबियों को भी जगह दी गई है. हालांकि मंत्रियों को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा दो ऐसे नामों को लेकर हो रही है, जो रिश्ते में एक दूसरे के जीजा साले हैं. इनका नाम भंवर सिंह भाटी और राजेंद्र गुढ़ा (Bhanwar Singh Bhati and Rajendra Gudha) है. भंवर सिंह भाटी को बिजली (स्वतंत्र प्रभार) और राजेंद्र सिंह गुढ्ढा को सैनिक कल्याण, होमगार्ड, पंचायती राज और ग्रामीण विकास विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

राजस्‍थान : अशोक गहलोत मंत्रिमंडल में हुआ फेरबदल, 15 नए मंत्री शामिल

राजेंद्र सिंह गुढ़ा की बहन की सगी बहन की शादी भंवर सिंह भाटी के साथ हुई है. अब दोनों ही मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री की भूमिका में होंगे. गुढ़ा उन छह विधायकों में शामिल हैं, जो बसपा से पाला बदलकर कांग्रेस में शामिल हुए थे. वो उदयपुरवाटी सीट से विधायक हैं.दिलचस्प बात है कि दोनों ही राज्य मंत्री बनाए गए हैं. ये दोनों नेता सीएम अशोक गहलोत के के भी करीबी माने जाते हैं. सचिन पायलट की बगावत के समय भी दोनों ने गहलोत की स्थिति मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. 

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंत्रिमंडल के पुनर्गठन के बाद गृह और वित्त विभाग अपने पास ही रखा है. मुख्यमंत्री कार्यालय के अनुसार, गहलोत ने वित्त, गृह, सूचना एवं जनसंपर्क, राज्य अनुसंधान ब्यूरो, कैबिनेट सचिवालय, सामान्य प्रशासन, कर विभाग अपने पास रखे हैं. ड. बी डी कल्ला को ऊर्जा, जलदाय विभाग की जगह शिक्षा (प्राथमिक और माध्यमिक), संस्कृत शिक्षा, कला साहित्य, संस्कृति और पुरातत्व विभाग सौंपा गया है.

 इससे पूर्व शिक्षा विभाग कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के पास था. शांति धारीवाल के पास स्थानीय निकाय, शहरी विकास, आवास, कानून, और संसदीय कार्य मंत्रालय पहले की तरह रहेगा. प्रताप सिंह खाचरियावास को खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग आवंटित किया गया है. लालचंद कटारिया के पास कृषि और प्रमोद जैन भाया के पास खान और पेट्रोलियम विभाग रहेगा. परसादी लाल मीणा को चिकित्सा एंव स्वास्थ्य मंत्रालय, लालचंद कटारिया को कृषि, पशुपालन और मत्स्य विभाग की जिम्मेदारी दी गई है.

इससे पूर्व चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्रालय डॉ. रघु शर्मा के पास था. शर्मा को अब गुजरात कांग्रेस का प्रभारी बनाया गया है. नए मंत्रियों में शामिल हेमाराम चौधरी को वन, महेश जोशी को जलदाय और भूजल, रामलाल जाट को राजस्व, रमेशी मीणा को पंचायती राज व ग्रामीण विकास विभाग, विश्वेंद्र सिंह को पर्यटन और नागरिक उड्डयन, गोविंद राम मेघवाल को आपदा प्रबंधन और राहत विभाग सौंपा गया है.


राज्य मंत्रियों से कैबिनेट मंत्री के तौर प्रमोशन पाने वाले तीन मंत्रियों ममता भूपेश को महिला और बाल विकास, भजल लाल को सार्वजनिक निर्माण विभाग, टीकाराम जूली को सामाजिक न्यास एवं अधिकारिता विभाग दिया गया है. गहलोत सरकार में रविवार को कांग्रेस के 15 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली थी. राजभवन में राज्यपाल कलराज मिश्र ने 11 विधायकों को कैबिनेट एवं चार विधायकों को राज्य मंत्री के रूप में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राजस्‍थान में 15 मंत्रियों ने ली शपथ, गहलोत और पायलट खेमे में संतुलन साधने की कोशिश