सुशांत सिंह राजपूत की बहन प्रियंका के खिलाफ रिया चक्रवर्ती का केस बॉम्बे हाईकोर्ट ने रखा बरकरार

फैसले पर रिएक्‍शन देते हुए रिया के वकील सतीश मानशिंदे ने ट्वीट किया, 'हम फैसले से सहमत है. ऐसा लगता है कि आखिरकार रिया चक्रवर्ती की न्‍याय और सत्‍य के लिए आवाज को सुना गया. सत्‍यमेव जयते '

सुशांत सिंह राजपूत की बहन प्रियंका के खिलाफ रिया चक्रवर्ती का केस बॉम्बे हाईकोर्ट ने रखा बरकरार

रिया चक्रवर्ती की शिकायत पर यह केस दर्ज किए गए थे

मुंंबई:

बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput)  की बहन प्रियंका सिंह (Priyanka Singh) के खिलाफ एक्‍ट्रेस रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) का केस बरकरार रखा है. हाई कोर्ट ने सुशांत सिंह राजपूत की बहन मीतू सिंह के खिलाफ दर्ज FIR खारिज किया, लेकिन दूसरी बहन प्रियंका सिंह के खिलाफ आरोप बरकरार रखा है.सुशांत सिंह राजपूत की बहन के वकील ने कहा है कि वो इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगे.सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती की शिकायत पर यह केस दर्ज किए गए थे. पिछले साल जून में सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उनके परिजनों ने मामले में रिया का रोल होने का आरोप लगाया था जिसकी जांच विभिन्‍न एजेंसियों द्वारा की जा रही है.फैसले पर रिएक्‍शन देते हुए रिया के वकील सतीश मानशिंदे ने ट्वीट किया, 'हम फैसले से सहमत है. ऐसा लगता है कि आखिरकार रिया चक्रवर्ती की न्‍याय और सत्‍य के लिए आवाज को सुना गया. सत्‍यमेव जयते ' 


सुशांत सिंह की बहन ने मुंबई पुलिस से कहा, परिवार उसके डिप्रेशन में होने के बारे में 2013 से जानता था

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि पिछले साल सितंबर माह में रिया की ओर से सुशांत की बहन प्रियंका सिंह के खिलाफ मुंबई पुलिस में शिकायत देने के बाद पुलिस ने खुदकुशी के लिए उकसाने (Abetment to suicide) का केस दर्ज किया था. बांद्रा पुलिस ने मामले में आईपीसी की 420 ,464,465,466,468,474,306 ,120B /34 के साथ ही NDPS कानून की धाराएं  8(1),21,22 ,29 के तहत भी की धाराएं भी लगाई थीं.रिया ने बांद्रा पुलिस स्टेशन में प्रियंका सहित राम मनोहर लोहिया अस्पताल के एक डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज कराया था. रिया ने इन पर सुशांत राजपूत के लिए दवाइयों के लिए फर्जी प्रिस्क्रिप्शन लिखवाने का आरोप लगाया था. इसमें कहा गया है कि इस प्रिस्क्रिप्शन में सुशांत को एंग्जाइटी मेडिकेशन दी गई थीं, जो वॉट्सऐप पर कानूनी रूप से प्रिस्क्राइब नहीं की जा सकती थीं.