तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा की पूर्व CJI पर टिप्पणी को लेकर बीजेपी सांसद ने की विशेषाध‍िकार प्रस्ताव की मांग

इससे पहले सरकार ने मंगलवार को महुआ ओर से संसद में देश के पूर्व प्रधान न्‍यायाधीश (Former CJI) पर की गई टिप्‍पणी को लेकर कोई कार्रवाई नहीं करने का फैसला किया था.

तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा की पूर्व CJI पर टिप्पणी को लेकर बीजेपी सांसद ने की विशेषाध‍िकार प्रस्ताव की मांग

बीजेपी सांसद पीपी चौधरी ने महुआ मोइत्रा के कमेंट पर ऐतराज जताया है

नई दिल्ली:

तृणमूल कांग्रेस पार्टी की सांसद महुआ मोइत्रा  (Trinamool Congress MP Mahua Moitra) की पूर्व CJI रंजन गोगोई पर कमेंट को लेकर बीजेपी सांसद पीपी चौधरी ने विशेषाधिकार प्रस्ताव की मांग की है. महुआ ने संसद में अपने भाषण के दौरान यह कमेंट किया था.पूर्व विधि राज्‍य मंत्री और बीजेपी सांसद पीपी चौधरी की ओर से यह विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया गया है. इससे पहले सरकार ने मंगलवार को महुआ मोइत्रा की ओर से संसद में देश के पूर्व प्रधान न्‍यायाधीश (Former CJI) पर की गई टिप्‍पणी को लेकर कोई कार्रवाई नहीं करने का फैसला किया था. महुआ ने पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई (Former Chief Justice Ranjan Gogoi) पर निशाना साधा था, बाद में इस टिप्‍पणी को संसदीय कार्यवाही से हटा दिया गया था.

कंगना रनौत को Y+ सिक्योरिटी मिलने पर TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने उठाए सवाल

न्‍यूज एजेंसी ANI ने संसदीय कार्य मंत्री जोशी के हवाले से कहा था, 'राम मंदिर पर निर्णय (अयोध्‍या मंदिर-मस्जिद फैसला) के मुद्दे को उठाना और तत्‍कालीन सीजेआई और दूसरी चीजों को लाना, यह एक गंभीर मामला है और हम उचित कदम उठाने के बारे में विचार कर रहे हैं.' यह कार्रवाई उस रूल के अंतर्गत आती है जिसमें कहा गया है कि कोई भी सदस्‍य, 'उच्‍च पद' पर आसीन उस शख्‍स के बारे में नहीं बोल सकता जब तक कि चर्चा पूरी तरह से उस पर आधारित न हो. 


फेसबुक विवाद में शशि थरूर के समन वाले बयान को लेकर ट्विटर पर उलझे महुआ मोइत्रा और निशिकांत दूबे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है क‍ि लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान महुआ मोइत्रा ने सुप्रीम कोर्ट के पूर्व प्रधान न्यायाधीश को लेकर एक टिप्पणी की थी, इसका भाजपा सदस्यों और सरकार की ओर से विरोध किया गया गया. संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने टिप्पणी पर आपत्ति जताई थी और कहा था कि इस प्रकार का उल्लेख नहीं किया जा सकता. इस पर पीठासीन सभापति एन के प्रेमचंद्रन ने कहा कि अगर महुआ मोइत्रा की बात में कुछ आपत्तिजनक पाया जाता है तो उसे रिकॉर्ड में नहीं रखा जाएगा।महुआ मोइत्रा ने कहा था, ‘‘न्यायपालिका अब पवित्र नहीं रह गयी है.''उन्होंने इसके बाद सुप्रीम कोर्ट के एक पूर्व प्रधान न्यायाधीश (CJI) को लेकर विवादित टिप्पणी की थी.