एक्ट्रेस कंगना रनौत को दिल्ली असेंबली के पैनल का समन, सिख समाज पर की थी टिप्पणी

कंगना को 6 दिसंबर को दोपहर 12:00 बजे समिति के सामने पेश होने के लिए कहा गया है. शांति और सद्भाव समिति के अध्यक्ष आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा हैं.

नई दिल्‍ली :

आप विधायक राघव चड्ढा की अध्यक्षता वाली दिल्ली विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को समन किया है. कंगना को 6 दिसंबर को दोपहर 12:00 बजे समिति के सामने पेश होने के लिए कहा गया है. सिख समाज पर की गई अप्रिय और अपमानजनक टिप्पणी को लेकर यह समन जारी किया गया है. शांति और सद्भाव समिति के अध्यक्ष आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा हैं.गौरतलब है कि दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है.

कंगना रनौत के आजादी वाले बयान पर बोलीं साध्वी प्रज्ञा- 'बुरा क्यों लगा...'

समिति द्वारा जारी बयान के अनुसार, रनौत के खिलाफ यह शिकायत मंदिर मार्ग थाने के साइबर प्रकोष्ठ में दर्ज करायी गई है. समिति का कहना है कि सोशल मीडिया पर हाल में किए गए अपने पोस्ट में रनौत ने ‘‘जानबूझकर'' किसानों के प्रदर्शन को ‘खालिस्तानी आंदोलन' बताया है. बयान में कहा गया है कि अभिनेत्री ने सिख समुदाय के खिलाफ ‘‘आपत्तिजनक और अपमानजनक'' भाषा का उपयोग किया.दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति केबयान के अनुसार, ‘‘... सिख समुदाय की भावनाओं को आहत करने के लिए जानबूझकर वह पोस्ट तैयार किया गया और आपराधिक मंशा से उसे साझा किया गया.''

देश के आजादी को लेकर अपने बयान के कारण विवादों में आईं कंगना पर राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्‍पणी करने का आरोप लग चुका है. कंगना ने दावा किया था कि सुभाषचंद्र बोस और भगत सिंह को महात्‍मा गांधी (Mahatma Gandhi) से समर्थन नहीं मिला. यहीं नहीं, कंगना ने बापू के 'अहिंसा के मंत्र' का भी मजाक बनाते हुए कहा कि एक और गाल आगे करने से आपको 'भीख' मिलती है आजादी नहीं. 


"नुकसान की चीजों को जबरदस्‍ती थोप रहे": राकेश टिकैत का मोदी सरकार पर निशाना

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com