Child Pornography के खिलाफ CBI का बड़ा अभियान, 7 लोगों को अरेस्‍ट किया, कई विदेशियों के शामिल होने का शक

सीबीआई ने कहा, 'शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि मामले में  विभिन्‍न महाद्वीपों के करीब 100 देशों के नागरिकों की संलिप्‍तता हो सकती है.'

Child Pornography के खिलाफ CBI का बड़ा अभियान, 7 लोगों को अरेस्‍ट किया, कई विदेशियों के शामिल होने का शक

तलाशी के दौरान 10 लोगों को अरेस्‍ट किया गया है (प्रतीकात्‍मक फोटो )

नई दिल्‍ली :

केंद्रीय जांच ब्‍यूरो (CBI)ने सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स/ग्रुप्‍स के जरिये बाल यौन  शोषण सामग्री (Child Sexual Exploitation Material या CSEM) वितरित करने, स्‍टोर करने और देखने में कथित संलिप्‍तता के आरोप में मंगलवार को 7 लोगों को अरेस्‍ट किया है. सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि 14 राज्‍यों के 77 से ज्‍यादा शहरों में देशव्‍यापी तलाशी के दौरान यह कार्यवाही की गई है. तीन आरोपी पुरुषोत्तम झा, रमन गौतम और सत्येंद्र मित्तल नाम के नाम के गिरफ्तार आरोपियों को दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया जाएगा. गिरफ्तारियों का आंकड़ा शाम तक और बढ़ सकता है.अलग-अलग शहरों में करीब 2 दर्जन से ज्यादा लोग हिरासत में लिया गया है.जांच एजेंसी ने एक प्रेस रिलीज में बताया कि 50 से अधिक ग्रुप से जुड़े 500 से ज्‍यादा लोग बाल यौन शोषण सामग्री शेयर कर रहे हैं. इन ग्रुप्‍स में से कई में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं. 

सीबीआई ने कहा, 'शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि मामले में  विभिन्‍न महाद्वीपों के करीब 100 देशों के नागरिकों की संलिप्‍तता हो सकती है.' सीबीआई की प्रेस रिलीज के अनुसार,ऑनलाइन बाल यौन शोषण सामग्री के खिलाफ देशव्‍यापी अभियान के तहत जांच एजेंसी ने 14 नवंबर को 83 आरोपियों के खिलाफ दर्ज अलग-अलग केसों के सिलसिले में  14 राज्‍यों के 77 स्‍थानों पर तलाशी अभियान चलाया. जांच एजेंसी ने कहा, यह आरोप लगाया गया था कि भारत और विदेशों में स्थित लोगों के विभिन्‍न सिंडीकेट, सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स/ग्रुप्‍स के जरिये बाल यौन  शोषण सामग्री (Child Sexual Exploitation Material) वितरित करने, स्‍टोर करने और देखने में लिप्‍त थे. यह भी आरोप है कि लोग लिंक, वीडियो, फोटो, टेक्‍सट और ऐसी संबंधित सामग्री को सोशल मीडिया के जरिये प्रसारित कर  रहे थे.

रिलीज के अनुसार, तलाशीअभियान के दौरान बड़ी संख्‍या में इलेक्‍ट्रॉनिक गेजेट्स, मोबाइल, लैपटॉप आदि बरामद किए गए है. यह भी खुलासा हुआ है कि कुछ लोग CSEM मटेरियल के कारोबार में शामिल थे.  सीबीआई इस मामले में औपचारिक और अनौचारिक तौर पर संबंधित एजेंसियों से भी संपर्क बनाए हुए है. (ANI से भी इनपुट)

प्रदूषण को लेकर SC में केंद्र और दिल्ली सरकार को फटकार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com