World Kidney Day 2021: किडनी रोगों को कैसे रख सकते हैं खुद से कोसों दूर? जानें क्रोनिक किडनी रोगियों के लिए कारगर टिप्स

World Kidney Day 2021: यह दिन किडनी के रोगों और आपकी किडनी को हेल्दी रखने की जरूरत के बारे में जागरूकता पैदा करने की कोशिश करता है. यहां कुछ तरीके दिए गए हैं जो किडनी के रोगों को रोकने में आपकी मदद कर सकते हैं.

World Kidney Day 2021: किडनी रोगों को कैसे रख सकते हैं खुद से कोसों दूर? जानें क्रोनिक किडनी रोगियों के लिए कारगर टिप्स

World Kidney Day 2021: पर्याप्त पानी का सेवन किडनी की बीमारियों को दूर रखने में मदद मिलती है

खास बातें

  • World Kidney Day 2021: यह दिन हर साल 11 मार्च को पड़ता है.
  • 'लिविंग वेल विद किडनी डिजीज', साल 2021 की थीम है.
  • किडनी को स्वस्थ रखने के लिए कम सोडियम वाले आहार का सेवन करें.

World Kidney Day 2021: विश्व किडनी दिवस प्रत्येक वर्ष मार्च के दूसरे गुरुवार को मनाया जाता है, जो कि एक महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्या के रूप में किडनी की बीमारी की पहचान करने की जरूरत पर दुनिया भर में जागरूकता फैलाने का दिन है. हाई रिस्क वाले समूह की आबादी में नियमित जांच से बीमारी की शुरुआती समय में ही पहचानने में मदद मिल सकती है. विश्व किडनी दिवस 2021 की थीम 'लिविंग वेल विद किडनी डिजीज' है. इस दिन के लिए शैक्षिक सेमिनार, सम्मेलन और जागरूकता रन आयोजित किए जा रहे हैं. विश्व किडनी दिवस 2021 पर, आइए हम इस अवसर का उपयोग किडनी रोगों के कारणों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए करें और इन्हें कैसे रोका जा सकता है इसके बारे में जानें.

क्या क्रैनबेरी जूस और जैतून का तेल दिलाता है किडनी स्टोन से निजात? जानें पथरी से जुड़े आम मिथ्स

किडनी रोगों के कारण और इनसे बचाव के तरीके | Causes And Methods Of Prevention Of Kidney Diseases

गुर्दे की बीमारियों के कारण (Causes Of Kidney Diseases)

किडनी की बीमारी के सामान्य कारणों में डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, मूत्र संक्रमण, किडनी स्टोन, दर्द निवारक दवाओं का अत्यधिक उपयोग, किडनी इंफेक्शन और अन्य शामिल हैं. मोटापा, शारीरिक व्यायाम की कमी, पर्याप्त पानी नहीं पीना, धूम्रपान और पारिवारिक इतिहास भी कुछ जोखिम कारक हैं.

विश्व किडनी दिवस पर जानें किडनी को सुपरहेल्दी रखने वाले 5 फूड्स, हमेशा बेहतर करेगी काम

आप किडनी की बीमारी को कैसे रोक सकते हैं? (How Can You Prevent Kidney Disease?)

  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीना, पानी का बहुत कम या अत्यधिक सेवन दोनों ही आपके किडनी के लिए हानिकारक हैं.
  • दर्द निवारक दवाओं और काउंटर दवाओं के अधिक उपयोग से बचें.
  • प्रोटीन सप्लीमेंट्स के सेवन से बचें.
  • यूरीन इंफेक्शन या किडनी की पथरी के मामले में उनको नजरअंदाज न करें और जल्द से जल्द उनका इलाज करवाएं.
  • डायबिटीज को पर्याप्त जीवन शैली और आहार में बदलाव के साथ नियंत्रण में रखें.
  • धूम्रपान शरीर के लिए कई तरह से हानिकारक है और किडनी इसका अपवाद नहीं है.
  • ब्लड प्रेशर को नियमित रूप से बार-बार जांचना चाहिए क्योंकि यह किडनी की बीमारी का एक प्रारंभिक मार्कर है.
no5lrvvoWorld Kidney Day 2021: डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर जैसी स्थिति गुर्दे की बीमारियों का खतरा बढ़ा सकती हैं

क्रोनिक किडनी रोग (CKD) रोगियों के लिए टिप्स (Tips For Chronic Kidney Disease (CKD) Patients)

अगर आपको पहले से ही किडनी की बीमारी है तो आप इन सुझावों पर नजर रखकर अपनी समस्याओं को काफी हद तक कंट्रोल कर सकते हैं.

विश्व किडनी दिवस पर जानें किडनी को सुपरहेल्दी रखने वाले 5 फूड्स, हमेशा बेहतर करेगी काम

1. अधिक सोडियम से बचें

क्रोनिंक किडनी डिजीज रोगियों को समग्र नमक सेवन को कम करने की जरूरत है. सोडियम शरीर में पानी के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है, लेकिन अगर किडनी अच्छी तरह से काम नहीं कर रहे हैं, तो अतिरिक्त सोडियम से पानी की अवधारण हो सकती है, जिससे टखनों में सूजन, हाई ब्लड प्रेशर, सांस की तकलीफ और बहुत कुछ हो सकता है.

2. फास्फोरस का सेवन कम करें

फास्फोरस मांस, मुर्गी, नट और सेम में पाया जा सकता है. जब किडनी खराब हो जाती है, तो वे फास्फोरस का निर्वहन करने में असमर्थ होते हैं जिसकी आपको जरूरत नहीं होती है और इससे हृदय रोग का खतरा अधिक होता है.

World Kidney Day: ये 5 कारक बनाते हैं आपको किडनी रोगों का मरीज, जानें खुद कैसे कर सकते हैं बचाव

3. एक्स्ट्रा पोटेशियम वाले भोजन से बचें

केले, आलू, टमाटर, संतरे और खरबूजे और अन्य फलों के एक मेजबान में पाया जाता है, पोटेशियम से बचने की जरूरत है क्योंकि किडनी अतिरिक्त पोटेशियम को फिल्टर नहीं कर सकते हैं और यह आपके ब्लड में इसकी अधिकता पैदा कर सकता है. दिन भर में अपने सोडियम का सेवन कम करें.

इन पर ध्यान दें और किडनी की बीमारियों को अच्छी तरह से मैनेज करें!

(डॉ. रवि बंसल वरिष्ठ सलाहकार हैं - पीएसआरआई अस्पताल, नई दिल्ली में नेफ्रोलॉजी)

अस्वीकरण: इस लेख के भीतर व्यक्त की गई राय लेखक की निजी राय है. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता, या वैधता के लिए जिम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दिखाई देने वाली जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को प्रतिबिंबित नहीं करती है और एनडीटीवी उसके लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं मानता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

एसिडिटी और अपच के लिए संजीवनी बूटी है मुलेठी, जानें सेवन करने का सही तरीका

पाइल्स का इलाज करने और बचाव के लिए कौन से फूड्स खाएं और किनसे करें परहेज? यहां हैं डाइट टिप्स

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पुरुष ओमेगा -3 फैटी एसिड के लिए कर रहे हैं फिश ऑयल का सेवन, तो पहले जान लें फायदे और नुकसान