Twitter reacts on Coronil and Swasari: बाबा रामदेव ने लॉन्च की कोरोना की दवा, तो ट्विटर पर आए ऐसे रि‍एक्शन

दवा को लॉन्च करते हुए बाबा रामदेव ने कहा, 'हमने योग के दम पर कोरोना मरीजों को ठीक होते देखा था और अब आयुर्वेद के जरिए भी लोगों को स्वस्थ्य किया है.' उन्होंने कहा 'क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल में पतंजलि ने एविडेंस पर आधारित रिसर्च पहले भी की है.' 

Twitter reacts on Coronil and Swasari: बाबा रामदेव ने लॉन्च की कोरोना की दवा, तो ट्विटर पर आए ऐसे रि‍एक्शन

ट्विटर पर कोरोनिल (Coronil) से जुड़े मिम्स खूब साझा किए जा रहे हैं.

Haridwar:

Coronil and Swasari For COVID-19: योग गुरु स्वामी रामदेव (Baba Ramdev) ने कोरोनावायरस की दवा 'कोरोनिल' (Coronil) को मंगलवार को बाजार में उतारा. बाबा रामदेव ने इस दवा में मौजूद सभी अवयवों के बारे में भी पूरी जानकारी दी. बाबा ने दावा किया कि आयुर्वेद पद्धति से जड़ी बूटियों (Herbs in Coronil) के गहन अध्ययन और शोध के बाद इस दवा को तैयार किया गया है और यह दवा सौ फीसदी मरीजों को फायदा पहुंचा रही है. लेकिन ट्‍विटर पर लोग हैं कि वे इस बात पर अपने अलग ही रिएक्शन दे रहे हैं. पतंजलि के संस्थापक योगगुरु रामदेव (Ramdev) ने कहा कि दवा का नाम 'कोरोनिल और श्वासरि' है. इसे देशभर में 280 मरीजों पर ट्रायल और रिसर्च करके विकसित किया गया है. COVID-19 के किसी भी वैकल्पिक इलाज का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है, यहां तक कि कई देशों द्वारा टीकों का परीक्षण किया जा रहा है. 

दवा को लॉन्च करते हुए बाबा रामदेव ने कहा, 'हमने योग के दम पर कोरोना मरीजों को ठीक होते देखा था और अब आयुर्वेद के जरिए भी लोगों को स्वस्थ्य किया है.' उन्होंने कहा 'क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल में पतंजलि ने एविडेंस पर आधारित रिसर्च पहले भी की है.' 

इसके बाद से ट्विटर पर #Coronil ट्रेंड कर रहा है. लोगों ने बाबा रामदेव को पतंजली की इस कामियाबी पर अपनी तरह से सलाम किया है. 

ट्विटर पर कोरोनिल से जुड़े मिम्स खूब साझा किए जा रहे हैं. 

आयुर्वेद में मिली इस सफलता और बाबा रामदेव के दावे के बाद से लोगों ने इसके डब्ल्यूएचओ और वैज्ञानिकों को शामिल करते हुए मिम्स बनाए. 

लोग इसे सम्मान के तौर पर ले रहे हैं कि भारत के आयुर्वेद को दुनिया अब सलाम करेगी.

ट्विटर पर लोगों ने अपनी भावनाएं जाहिर करते हुए कुछ गुद्गुदा देने वाले मिम्स बनाएं. इस मिम में डब्ल्यूएचओ और वैज्ञानिकों को कैसा लग रहा होगा उसी पर चुटकी ली गई है...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रामदेव ने दावा किया, "हमने इन दवाओं के दो ट्रायल किए हैं. इसमें हमने 280 मरीजों को शामिल किया और 100 प्रतिशत मरीज रिकवर हो गए. हम कोरोना और उसकी जटितलाओं को काबू करने में सक्षम रहे. इसके साथ सभी जरूरी क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल किए गए." उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट में जयपुर की निम्स यूनिवर्सिटी उनके साझेदार है.