विज्ञापन
Story ProgressBack

जांघो पर जमा हो गया है फैट को आज से ही शुरू कर दें ये 7 काम, कुछ ही दिनों में पतली हो जाएंगी थाइज

Best yoga asana to reduce thigh fat: कई बार जांघों का वजन भी काफी बढ़ जाता है. जिसको कम करना काफी मुश्किल भरा टास्क होता है. ऐसे में इन योगासन को ट्राई करना आपके लिए बेस्ट ऑप्शन साबित हो सकता है.  

Read Time: 3 mins
जांघो पर जमा हो गया है फैट को आज से ही शुरू कर दें ये 7 काम, कुछ ही दिनों में पतली हो जाएंगी थाइज
थाई फैट घटाने के लिए करें ये योगासन

Best yoga poses to reduce thigh fat: फैट कम करना ज्यादातर लोगों के लिए काफी मुश्किल भरा टास्क होता है, फिर चाहें बैली फैट हो या फिर थाई फैट. वैसे तो आमतौर पर लोग अपना बैली फैट कम करने के लिए आपको तमाम जद्दोजहद करते नजर आते हैं. लेकिन बहुत लोग ऐसे भी हैं जो अपनी जांघों के बढ़ते वजन से परेशान हैं और इसको कम करने के लिए अलग-अलग तरह के तरीके अपनाते रहते हैं. लेकिन अगर आप अपने थाई फैट यानी जांघों की चर्बी (Best yoga poses)  को कम समय में घटाने का सपना देख रहे हैं. तो कुछ योगासन आपके लिए काफी काम आ सकते हैं. तो आइये आपको बताते हैं इन योगासनों के बारे में.  

जांघों की चर्बी कम करने के लिए योगासन (Yoga asanas to lose weight of thighs)

उत्कटासन:

उत्कटासन जांघों और कमर की मांसपेशियों को स्टिमुलेट करके थाई फैट को कम करने में आपकी जल्दी मदद कर सकता है. ऐसे में आप अपनी जांघों की चर्बी कम करने के लिए इस आसन की मदद ले सकते हैं.

वीरभद्रासन:

इस योगासन को करने से आपके पैरों खासकर जांघों की मांसपेशियों पर खिंचाव पड़ता है. जिससे इनर थाइज का वेट लॉस करने में काफी आसानी होती है. इसलिए आप चाहें तो वीरभद्रासन ट्राई कर सकते हैं.

नटराजासन:

नटराजासन करने से कोर को स्ट्रेंथ मिलती है और कमर व जांघों की मांसपेशियों के साथ ही पेट पर भी खिंचाव पड़ता है. जिससे जांघों के साथ ही आपका बैली फैट भी कम होने लगता है. ये आसन खड़े होकर किया जाता है.

उष्ट्रासन:

इस योगासन को करने से जांघों पर जमा एक्स्ट्रा फैट बर्न होता है. जिससे थाइज व पैरों के साथ ही पूरी लोवर बॉडी की मसल्स टोन होती हैं. इस आसन को कैमल पोज भी कहा जाता है.

ये चीजें हमारे शरीर से जल्दी सोख लेती हैं पानी, जानिए गर्मी के दिनों में क्या खाने से होने लगता है डिहाइड्रेशन

उपविष्ठ कोणासन:

उपविष्ठ कोणासन जांघों की चर्बी कम करने के साथ ही इनको स्ट्रेच भी देता है. तो इसके साथ ही इस योगासन को करना आपके पैरों के पिछले हिस्से के लिए भी काफी बेहतर हो सकता है.

जनु शीर्षासन:

इस योगासन से पैरों की मांसपेशियों के साथ ही पीठ और कोर को भी स्ट्रेच मिलता है. जो ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करता है. इतना ही नहीं ये मुद्रा पैरों को मजबूती देने और मन को शांत रखने में भी मददगार होती है.

मलासन:

इस आसन को करने से ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है. मलासन की ये मुद्रा कमर और जांघों में बेहतर तरीके से खिंचाव देकर इनको टोन करने का काम करती है. जिससे थाइज फैट कम होने लगता है.

Homemade Night Cream For Glowing Skin | चार चीजों से घर पर बनाएं नाइट क्रीम

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बाल झड़ने से गंजी होने लगी है खोपड़ी, तो बस कर लीजिए ये एक काम, 15 दिन में दिखने लगेगा असर
जांघो पर जमा हो गया है फैट को आज से ही शुरू कर दें ये 7 काम, कुछ ही दिनों में पतली हो जाएंगी थाइज
Explainer: 31 मई से 1 जून की शाम तक ध्यान में लीन रहेंगे पीएम, जानें क्या है ध्यान की ताकत? ध्यान का महत्व और ध्यान कैसे करें
Next Article
Explainer: 31 मई से 1 जून की शाम तक ध्यान में लीन रहेंगे पीएम, जानें क्या है ध्यान की ताकत? ध्यान का महत्व और ध्यान कैसे करें
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;