How To Boost Immunity: नेचुरल तरीके से इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ये टिप्स हैं असरदार, वायरस और फ्लू से रहेंगे दूर!

How To Boost immunity: बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण जैसी बीमारियों से लड़ने के लिए अपने इम्यून सिस्टम (Immune System) को मजबूत करना सबसे ज्यादा जरूरी है. यहां कुछ तरीके बातए गए जो इम्यूनिटी बढ़ाने में फायदेमंद हो सकते हैं.

How To Boost Immunity: नेचुरल तरीके से इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ये टिप्स हैं असरदार, वायरस और फ्लू से रहेंगे दूर!

Tips To Boost Immunity: बार-बार बीमार होने से बचने के लिए इम्यूनिटी बढ़ाएं

खास बातें

  • इन टिप्स को ट्राई कर बढ़ाएं अपनी इम्यूनिटी और हमेशा रहें हेल्दी.
  • मजबूत इम्यून सिस्टम से कई संक्रमक रोगों को दूर रखा जा सकता है.
  • नियमित रूप से एक्टिव रहने से आप इम्यून सिस्टम को बेहतर बना सकते हैं.

Tips To Boost Immunity: कोरोनावायरस (Coronavirus) से दुनियाभर में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई. भारत में भी कई राज्यों में लॉकडाउन किया गया है. भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus In India) का आंकड़ा 400 के पार पहुंच गया है. दुनियाभर में तेजी से फैल रही इस बीमारी से निपटने के लिए कई जरूरी एहतियात तो आजमाए जा रहे हैं, लेकिन एक्सपर्ट का मानना है कि कमजोर इम्यूनिटी (Weak Immunity) वालों को इससे ज्यादा सावधान रहेने की जरूरत है. कोरोनावायरस (Coronavirus) ऐसे लोगों को ज्यादा इफेक्ट कर रहा है जिनकी इम्यूनिटी कम है. बुढ़ापा एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जिसमें विभिन्न चरण शामिल हैं. उम्र बढ़ने का सबसे बड़ा प्रभाव इम्यून सिस्टम (Immune System) पर पड़ता है. कमजोर इम्यून सिस्टम शरीर में संक्रमण, वायरस से लड़ने वाली कम प्रतिरक्षा कोशिकाओं का उत्पादन करता है. युवा वयस्कों की तुलना में वृद्ध लोगों में तीव्र संक्रमण की मृत्यु दर लगभग दो से तीन गुना अधिक होती है. एक्सपर्ट का मानना है कि कई कारक आपकी प्रतिरक्षा को प्रभावित करते हैं. अगर आपकी इम्यूनिटी कमजोर है तो आपके शरीर में वायरस, फ्लू आसानी से प्रवेश कर सकते हैं. क्योंकि इनसे लड़ने के लिए आपके शरीर की इम्यून क्षमता (Immune Power) कम होती है. ऐसे में क्या करें कि इम्यूनिटी को आसानी से बढ़ाया जा सके. यहां कुछ तरीके बताए गए हैं जो आपकी इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं...

इन आसान और प्राकृतिक तरीकों से बढ़ाएं इम्यूनिटी | Ways To Boost Immunity Naturally

1. हेल्दी खाना खाएं

माइक्रोन्यूट्रिएंट की कमी इन दिनों आम होती जा रही है, जिसका मुख्य कारण वृद्ध लोगों और युवाओं दोनों में इनहेल्दी डाइट है. बच्चे हरी सब्जियों के शौकीन नहीं होते हैं और जंक फूड की ओर अधिक ध्यान देते हैं, जबकि बड़े लोग उम्र के अनुसार कम खाते हैं और एक जैसे खाद्य पदार्थों से चिपके रहते हैं. इन आदतों से जस्ता, आयरन, तांबा, फोलिक एसिड, विटामिन ए, विटामिन बी और विटामिन सी की कमी हो जाती है, ये सभी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को चरम पर रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं. अधिक पौष्टिक आहार या पूरक आहार यह सुनिश्चित करेगा कि शरीर को वह सब कुछ मिल जाए जो उसकी जरूरत है और किसी भी संक्रमण या बीमारी को दूर करने के लिए आवश्यक एंटीबॉडी और प्रतिरक्षा का निर्माण करता है.

7fn8pfrBoost Immunity: अपने इम्यून सिस्टम को दुरुस्त रखने के लिए एक स्वस्थ आहार चुनें

2. सक्रिय रहें

हमारा आसल हमें कई बीमारियों की चपेट में ला सकता है. हमें रोजाना कुछ न कुछ शारीरिक एक्टिविटी करते रहनी चाहिए. नियमित व्यायम करने से आपको इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद मिल सकती है. शोध बताते हैं कि शारीरिक गतिविधियां प्रतिरक्षा प्रणाली की कोशिकाओं और एंटीबॉडी के उत्पादन को बढ़ावा देती हैं. इसका मतलब यह नहीं हो सकता है कि अगर आप 60 वर्ष से अधिक उम्र के हैं, तो जिम जाना चाहिए, लेकिन घर पर ही घूमना और तेज चलना, शरीर के रोग-प्रतिरोधक तंत्र और मांसपेशियों की शक्ति को बनाए रखने में मदद कर सकता है.
3. नींद अच्छी आती है

3. अच्छी नींद लेना

विभिन्न चिकित्सा अध्ययनों से पता चला है कि जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, वे उन लोगों की तुलना में स्वास्थ्य जोखिमों से अधिक ग्रस्त हैं, जो कम से कम 7-8 घंटे की नींद लेते हैं. यहां तक कि युवा और स्वस्थ लोगों में भी नींद की खराब गुणवत्ता प्रतिरक्षा को कम कर सकती है. शरीर की स्व-मरम्मत करने और सूजन और संक्रमण से लड़ने के लिए नींद पूरी करना महत्वपूर्ण है.

4. तनाव से लड़ें

हालांकि तनाव और इम्यून सिस्टम के बीच कोई सीधी कड़ी नहीं हो सकती है, तनाव और आपके महत्वपूर्ण शारीरिक कार्यों के बीच संबंध हैं. समय के साथ, तनाव शरीर की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को कम करता है और दिल से संबंधित बीमारियों और मनोवैज्ञानिक मुद्दों जैसे प्रमुख स्वास्थ्य चिंताओं को बढ़ा सकता है. तनाव को प्रबंधित करना और इसे कम रखना बहुत महत्वपूर्ण है, खासकर 21 वीं सदी में, जहां जीवनशैली अपने आप में काफी तनाव-उत्प्रेरण है. तनाव से लड़ने के लिए मज़ेदार तरीके खोजें.

peiu2qo8Increase Immunity: हेल्दी इम्यून सिस्टम के लिए स्ट्रेस से रहें दूर

5. स्वच्छता बनाए रखना

कुछ आदतें हमें बीमार पड़ने या संक्रमण, कीटाणुओं और जीवाणुओं को दूसरों से दूर रखने में एक लंबा रास्ता तय कर सकती हैं. बच्चों में स्वच्छता कौशल का निर्माण आवश्यक है क्योंकि वे बड़े होने पर ऐसा करना जारी रखेंगे. खाना खाने से पहले और बाद में अपने हाथ धोना, खाना पकाना, शौचालय का उपयोग करना, सफाई करना और किसी ऐसे व्यक्ति की देखभाल करना जो खुद को सुरक्षित रखने के लिए सर्वोपरि है. बुजुर्गों के लिए यह और भी महत्वपूर्ण है क्योंकि उनमें संक्रमित होने की संभावना युवा लोगों की तुलना में बहुत अधिक है. अगर साबुन और पानी न हो तो सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.

6. टीका लगवाना

आपकी उम्र के अनुसार टीके थोड़े कम प्रभावी हो सकते हैं, लेकिन वे अभी भी स्वस्थ रहने की संभावनाओं में सुधार करते हैं. शिशुओं का टीकाकरण राष्ट्रीय टीकाकरण अनुसूची या चिकित्सक के उपचार के अनुसार होना अनिवार्य है. किसी भी फ्लू या बीमारी से लड़ने के लिए शरीर की क्षमता में सुधार करने के लिए अनुशंसित टीकों को लगवाना जरूरी है. क्योंकि एंटीबॉडी और श्वेत रक्त कोशिकाओं की घटती संख्या के कारण आपका इम्यून सिस्टम इससे निपटने में सक्षम नहीं हो सकता है.

(इनपुट्स- डॉ. दीपक पराशर, मेडिकल ऑफिसर, हेल्थियंस)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: इस लेख के भीतर व्यक्त की गई राय लेखक की निजी राय है. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता, या वैधता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दिखाई देने वाली जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को नहीं दर्शाती है और एनडीटीवी इसके लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं मानता है.