विज्ञापन
Story ProgressBack

इस साल हनुमान जयंती पर बन रहा है शुभ भद्रावास योग, परिवार संग बजरंग बली की पूजा से मिलेगा अक्षय फल

Hanuman janmotsav 2024 date : इस साल की हनुमान जयंती बहुत ही खास होने जा रही है क्योंकि इस दिन हनुमान जयंती पर मंगलवार का दिन होने के साथ साथ भद्रावास योग भी लग रहा है.

Read Time: 3 mins
इस साल हनुमान जयंती पर बन रहा है शुभ भद्रावास योग, परिवार संग बजरंग बली की पूजा से मिलेगा अक्षय फल
Hanuman jayanti 2024 puja vidhi : हनुमान जयंती 2024 कब है.

Hanuman Jayanti 2024 : सनातन धर्म में हनुमान जी को संकट हरने वाला संकटमोचन कहा गया है. भगवान राम के भक्त हनुमान जी त्रेता युग में चैत्र माह की पूर्णिमा के दिन पैदा हुए थे और इसीलिए भक्त हर साल चैत्र माह की पूर्णिमा के दिन धूमधाम से हनुमान जन्मोत्सव (Hanuman jayanti 2024)मनाते हैं. बल, बुद्धि और साहस का आशीर्वाद देने वाले हनुमान जी भक्तों की पूजा से बेहद प्रसन्न हो जाते हैं और उन्हे हर संकट से बचाते हैं. इस साल हनुमान जयंती 23 अप्रैल यानी मंगलवार के दिन पड़ रही है. मान्यता है कि बजरंग बली मंगलवार के दिन जन्मे और इसी कारण उनका नाम मंगलमूर्ति पड़ा.  ज्योतिषियों के अनुसार इस बार हनुमान जयंती पर मंगलकारक भद्रावास योग बन रहा है जो बजरंग बली की पूजा के लिए बेहद खास बताया जा रहा है. कहा जा रहा है कि इस शुभ योग में हनुमान जी की पूजा करने पर साधक और उसके परिवार को मनोवांछित फल मिलने के योग बनेंगे.

23 या 24 अप्रैल जानिए कब है हनुमान जयंती, यहां जानिए बजरंग बली की पूजा का शुभ मुहूर्त

हनुमान जयंती पर लग रहा है भद्रावास योग  


ज्योतिषियों ने कहा है कि हनुमान जयंती के दिन भद्रावास योग बन रहा है. भद्रा यानी शनि की बहन इस दिन पाताल लोक में रहेंगी और धरती पर सभी तरह के धार्मिक और मांगलिक कार्यक्रम शुभ होंगे. कहते हैं कि जब भद्रा पाताल लोक में रहती हैं तो धरती पर भक्तों द्वारा की गई पूजा लाभकारी और पावन फल देने वाली होती है. इस दिन भद्रावास योग सायंकाल के समय 4 बजकर 25 मिनट से लग रहा है. इस समय बजरंग बली की पूजा करने पर साधक और उसके पूरे परिवार को अक्षय फल की प्राप्ति का वरदान मिलने के योग बन रहे हैं.

Latest and Breaking News on NDTV

कैसे करें हनुमान जी की विधिवत पूजा  


हनुमान जी की पूजा करने से पहले आपको मंदिर के सामने एक चौकी स्थापित करनी होगी. इस पर एक लाल कपड़ा बिछाएं. इसके बाद चौकी पर भगवान राम और बजरंग बली की तस्वीर या प्रतिमा स्थापित करें. अब चंदन से भगवान को तिलक करें.फूल और फल अर्पित करें. इसके बाद बजरंग बली को लड्डुओं का भोग लगाएं और तुलसी दल अर्पित करें. पहले भगवान राम की आरती करें और इसके बाद बजरंग बली की आरती करें. बजरंग बाण और हनुमान चालीसा का पाठ करें. 

गर्मियों में भी फटने लगी हैं एड़ियां, तो जानिए इसका कारण और घरेलू उपचार

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
किन लोगों को नहीं करनी चाहिए तुलसी की पूजा? महिलाएं ध्यान रखें ये बात...
इस साल हनुमान जयंती पर बन रहा है शुभ भद्रावास योग, परिवार संग बजरंग बली की पूजा से मिलेगा अक्षय फल
रवि प्रदोष व्रत रख रहे हैं तो पूजा की थाली में जरूर शामिल करें ये चीजें, नोट कर लीजिए पूरी लिस्ट
Next Article
रवि प्रदोष व्रत रख रहे हैं तो पूजा की थाली में जरूर शामिल करें ये चीजें, नोट कर लीजिए पूरी लिस्ट
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;