Aaj Ka Panchang 18 May 2022: ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि और ज्येष्ठा नक्षत्र, जानें शुभ मुहूर्त

Aaj Ka Panchang 18 May 2022: आज यानी 18 मई, ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की तृतीया (Jyeshtha Krishna Tritiya) तिथि है. तृतीया तिथि रात 11 बजकर 36 मिनट तक है. इसके बाद चतुर्थी तिथि लग जाएगी.

Aaj Ka Panchang 18 May 2022: ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि और ज्येष्ठा नक्षत्र, जानें शुभ मुहूर्त

Aaj Ka Panchang 18 May 2022: आज ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि है.

खास बातें

  • ज्येष्ठ मास की तृतीया तिथि है आज.
  • ज्येष्ठा नक्षत्र का है खास संयोग.
  • सिद्ध और साध्य योग का है खास संयोग.

Aaj Ka Panchang 18 May 2022: हिंदी पंचांग (Panchang Today) के अनुसार आज यानी 18 मई, ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की तृतीया (Jyeshtha Krishna Tritiya) तिथि है. तृतीया तिथि रात 11 बजकर 36 मिनट तक है. इसके बाद चतुर्थी तिथि लग जाएगी. सूर्योदय 5 बजकर 29 मिनट पर है. सूर्यास्त का समय शाम 7 बजकर 07 मिनट है. ज्येष्ठा नक्षत्र (Jyeshtha  Nakshatra) सुबह 08 बजकर 10 मिनट तक है. इसके बाद मूल नक्षत्र लग जाएगा. राहुकाल (Rahu Kaal) दोपहर 12 बजकर 18 मिनट से 02 बजे तक है. पंचांग (Aaj Ka Panchang) के मुताबिक जानते हैं 18 मई के शुभ-अशुभ मुहूर्त (18 May 2022 Panchang). 

18 मई अप्रैल 2022 का पंचांग, शुभ मुहूर्त  (18 May 2022 Panchang Shubh Muhurat) 

  • ब्रह्म मुहूर्त- 04:06 ए एम से 04:47 ए एम
  • अभिजित मुहूर्त- कोई नहीं
  • गोधूलि मुहूर्त- 06:53 पी एम से 07:17 पी एम
  • अमृत काल- 11:54 पी एम से 01:20 ए एम, मई 19

अशुभ समय (Ashubh Muhurat)

  • राहु काल- दोपहर 12 बजकर 18 मिनट से 02 बजे तक 
  • दुर्मुहूर्त- सुबह 11 बजकर 50 मिनट से 12 बजकर 45 मिनट तक 
  • गुलिक काल- सुबह 10 बजकर 35 मिनट से 12 बजकर 18 मिनट तक है. 
  • यमगंड- सुबह 07 बजकर 11 मिनट से 08 बजकर 53 मिनट तक

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang)

आज का योग- सिद्ध, शाम 06 बजकर 45 मिनट तक. उसके बाद साध्य योग शुरू हो जाएगा. 

आज का वार- बुधवार

आज का पक्ष- कृष्ण पक्ष

आज की तिथि- तृतीया रात 11 बजकर 36 मिनट तक है. उसके बाद चतुर्थी तिथि लग जाएगी.

सूर्योदय- 5 बजकर 29 मिनट पर 

दिशा शूल- उत्तर

नक्षत्र शूल पूर्व- पूर्व- 08:10 ए एम तक

चंद्र वास- उत्तर - 08:10 ए एम तक

राहु वास- दक्षिण-पश्चिम

ऋतु- ग्रीष्म

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.) 

क्या आप जानते हैं? ज्ञानवापी में शिवलिंग या फव्वारे का दावा कितना सही, क्या है पूजा स्थल कानून?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com