चीन के मैसेजिंग ऐप WeChat ने क्रिप्टो से जुड़े एकाउंट्स पर लगाई रोक

नए रूल्स के तहत WeChat यूजर्स को ट्रांजैक्शन चैनल्स, गाइडेंस या क्रिप्टोकरेंसी उपलब्ध कराने वाले एकाउंट्स पर पेनल्टी भी लगेगी

चीन के मैसेजिंग ऐप  WeChat ने क्रिप्टो से जुड़े एकाउंट्स पर लगाई रोक

WeChat ने अप्रैल में कहा था कि उसने NFT से जुड़े कुछ एकाउंट्स पर रोक लगाई है

खास बातें

  • WeChat ने अपने कोड ऑफ कंडक्ट में बदलाव किया है
  • डिजिटल करेंसी से जुड़े किसी भी एकाउंट पर स्थायी रोक लगाई जा सकती है
  • चीन ने इस वर्ष की शुरुआत में डिजिटल युआन का ट्रायल शुरू किया था

क्रिप्टो सेगमेंट पर चीन की सरकार के पिछले वर्ष पाबंदियां लगाने के बाद चीन के सबसे लोकप्रिय इंस्टेंट मैसेजिंग और कॉलिंग ऐप WeChat ने अब अपने प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टो से जुड़े एकाउंट्स पर रोक लगा दी है. इसके लिए WeChat ने अपने कोड ऑफ कंडक्ट में बदलाव किया है और क्रिप्टोकरेंसीज और नॉन-फंजिबल टोकन (NFT) की ट्रेडिंग और अन्य एक्टिविटीज से जुड़े एकाउट्स को अवैध बिजनेस करार दिया है. नए रूल्स में कहा गया है कि डिजिटल करेंसी से जुड़े किसी भी एकाउंट पर स्थायी रोक लगाई जा सकती है.

South China Morning Post की रिपोर्ट में बताया गया है कि ऐसे एकाउंट्स को सुधार करने का आदेश दिया जाएगा. इनके कुछ फीचर्स पर रोक लगाई जाएगी या इन्हें पूरी तरह बैन किया जाएगा. WeChat ने अप्रैल में कहा था कि उसने NFT से जुड़े कुछ एकाउंट्स पर रोक लगाई है. नए रूल्स के तहत WeChat यूजर्स को ट्रांजैक्शन चैनल्स, गाइडेंस या क्रिप्टोकरेंसी उपलब्ध कराने वाले एकाउंट्स पर पेनल्टी भी लगेगी. इसका असर इनिशियल कॉइन ऑफरिंग (ICO) और क्रिप्टो डेरिवेटिव्स ट्रांजैक्शंस से जुड़े एकाउंट्स पर भी पड़ेगा. 

रिपोर्ट में बताया गया है कि WeChat के मैनेजमेंट ने इस वर्ष की शुरुआत में चीन के रेगुलेटर्स की ओर से जारी की गई गाइडलाइंस के अनुसार रूल्स में बदलाव किया है. इन रेगुलेटर्स ने इंडस्ट्री को ऐसे डिजिटल एसेट्स से दूरी बनाने की सलाह दी थी. हालांकि, इससे पहले चीन के रेगुलेटर्स ने NFT सेगमेंट को लेकर कड़ा रुख नहीं दिखाया था. एक अनुमान के अनुसार, चीन में इससे जुड़े प्लेटफॉर्म्स की संख्या इस वर्ष तेजी से बढ़ी है. 

WeChat ने अप्रैल में चीन की सरकार के सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी प्रोजेक्ट डिजिटल युआन को अपने पेमेंट के विकल्पों में शामिल किया था. चीन ने इस वर्ष की शुरुआत में डिजिटल युआन या e-CNY का ट्रायल शुरू किया था. पिछले कुछ महीनों में इसका इस्तेमाल बढ़ाने के लिए कुछ उपाय किए गए हैं. पीपल्स बैंक ऑफ चाइना (PBoC) का उद्देश्य इस डिजिटल करेंसी के जरिए मार्केट में कॉम्पिटिशन बढ़ाना है. इससे पेमेंट सिस्टम की एफिशिएंसी और सेफ्टी में सुधार होगा और ट्रांजैक्शन की कॉस्ट घटाने में मदद मिलेगी. क्रिप्टोकरेंसीज की तरह CBDC में वोलैटिलिटी नहीं होती और अन्य रिस्क नहीं होते. अमेरिका में फेडरल रिजर्व CBDC लॉन्च करने की संभावना तलाश रहा है. 


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com