Delhi Crime: बीमा पॉलिसी के नाम पर ठगी करने वाले फर्जी रैकेट का भंडाफोड़, 6 गिरफ्तार

दिल्ली व मुंबई पुलिस की संयुक्त टीम ने बीमा पॉलिसी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. आरोपियों के खिलाफ मुंबई पुलिस ने केस दर्ज किया था. पुलिस ने 6 आरोपियों को दिल्ली के नजफगढ़ से गिरफ्तार किया है.

Delhi Crime: बीमा पॉलिसी के नाम पर ठगी करने वाले फर्जी रैकेट का भंडाफोड़, 6 गिरफ्तार

बीमा पॉलिसी के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले 6 आरोपी गिरफ्तार. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

बीमा पॉलिसी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का दिल्ली पुलिस व मुंबई पुलिस की एक संयुक्त टीम ने भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने कॉल सेंटर में काम करने वाले कुल छह आरोपियों को  गिरफ्तार किया है. सभी आरोपी अवैध रूप से फोन कर विभिन्न कंपनियों की बीमा पॉलिसियों के नाम पर लोगों को ठगते थे. क्राइम ब्रांच के जॉइंट सीपी आलोक कुमार के मुताबिक एक वरिष्ठ नागरिक की शिकायत पर मुंबई की साइबर सेल ने मामले में केस दर्ज किया था. उन्होंने 75 लाख रुपये की ठगी का आरोप लगाया था. 

पिटते हुए वालिद को बचाने के लिए लिपटी रही बच्ची, लेकिन गुस्साई भीड़ लगवाती रही 'जय श्री राम' के नारे

पुलिस ने दिल्ली के नजफफगढ़ से 21 साल के हर्षित चिकारा, 21 साल के  प्रसून कुमार सिन्हा, 20 साल के अदनान खान, 18 साल के सौरभ, 21 साल के मोहित मित्तल और 32 साल के पंकज शाह को गिरफ्तार किया है. मुंबई पुलिस अधिकारियों की एक टीम 9 अगस्त को दिल्ली पहुंची. दिल्ली पुलिस और मुंबई पुलिस की जॉइंट टीम ने आरोपियों को नजफगढ़ से पकड़ लिया.

आरोपी ग्राहकों को कंपनी द्वारा टेलीकॉलिंग के लिए उपलब्ध कराए गए डेटा से कॉल करते थे. कंपनी में नए टेलीकॉलर्स को लैंडलाइन फोन दिए गए थे, जबकि सीनियर कर्मचारियों, टीम लीडर्स, टीम मैनेजर के लिए कंपनी द्वारा सिम कार्ड दिए गए थे. आरोपी व्यक्ति गूगल पर भी ग्राहकों की प्रोफाइल चेक करते थे और संभावित ग्राहकों को उनकी प्रोफाइल (जैसे आईटीआर और पॉलिसी राशि) के आधार पर शॉर्टलिस्ट करते थे.


CAPF की परीक्षा में बंगाल हिंसा पर सवाल, CM ममता बोलीं-  'UPSC जैसी संस्थाओं को बर्बाद कर रही है BJP'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आरोपियों ने ठगी की राशि और रुपये का बड़ा हिस्सा साझा किया है. कुल 75 लाख में से 20 लाख मास्टरमाइंड अदनान खान को, 16 लाख पंकज शाह को और बाकी बचे आरोपियों में बांटे गए थे. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है.