RR vs PBKS: अगर केएल राहुल यह बड़ी चूक नहीं करते, तो बहुत पहले ही जीत जाता पंजाब, सैमसन से बाल-बाल बचे

RR vs PBKS:पंजाब की शुरुआत ज्यादा अच्छी नहीं रही थी और मयंक अग्रवाल जल्द ही आउट हो गए, लेकिन इसके बाद क्रिस गेल दूसरे विकेट के रूप में क्रिस गेल (40) तब आउट हुए, जब लग रहा था कि वह एक बड़ा धमाका करने जा रहे हैं, लेकिन युवा रियान पराग ने रणनीति को अंजाम देते हुए गेल को अपने जाल में फंसा ही लिया. लेकिन नए बल्लेबाज दीपक हूडा (64 रन, 28 गेंद, 4 चौके, 6 छक्के) ने धमाकेदार अंदाज में सभी को चौंकाते हुए सिर्फ 20 गेदों पर अर्द्धशतक जड़ डाला. राजस्थान के गेंदबाजों पर दीपक मानो कोविड की तरह टूट पड़े.

RR vs PBKS: अगर केएल राहुल यह बड़ी चूक नहीं करते, तो बहुत पहले ही जीत जाता पंजाब, सैमसन से  बाल-बाल बचे

RR vs PBKS: संजू सैमसन का बहुत ही साहसिक प्रयास मंजिल तक नहीं पहुंच सका

मुंबई:

Rajasthan Royals vs Punjab Kings: जारी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में सोमवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए बहुत ही रोमांचक मुकाबले में पंजाब ने राजस्थान को 4 रन से हराकर अपने अभियान का आगाज किया. लगातार एक छोर पर शुरुआत से गिरते विकेटों के बीच एक छोर पर बतौर कप्तान संजू सैमसन (119 रन, 63 गेंद, 12 चौके, 7 छक्के) बेहतरीन शतकीय पारी से एक हारे हुए मुकाबले को खींचते हुए जीत के मुहाने पर ले गए. पहले जीत के आखिरी ओवर में 13 और फिर आखिरी गेंद पर 5 रन के समय संजू सबसे जरूरी वक्त के समय गेंद को सीमापार नहीं भेज सके. नतीजन राजस्थान कोटे के 20 ओवरो में 7 विकेट पर 217 रन ही बना सका और पंजाब किंग्स की टीम 4 रन से मैच जीतने में कामयाब रही.

पंजाब से मिले 222 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की शुरुआत खराब रही थी और जब तीसरा ओवर पूरा होने से पहले राजस्थान ने दोनों ओपनरों के विकेट गंवा दिए, तो एक बार को  संजू सैमसन को छोड़कर उसके समर्थकों ने भी हथियार डाल दिए. संजू एक छोर पर दे-दनादन शॉट लगाते रहे और टीम का स्कोर आगे बढ़ाते रहे. निचले क्रम में संजू को रियान पराग (25 रन, 11 गेंद, 1 चौका, 3 छक्के) ने अच्छा सहारा दिया, तो संजू का हौसला और बढ़ गया और वह टीम को उस मोड़ पर ले गए, जहां से मुकाबला किसी भी तरफ जा सकता था. पंजाब के कोच कुंबले सहित तमाम सदस्यों के चेहरों पर तनाव पसर चुका था. और यह पारी की आखिरी गेंद पर ही खत्म हुआ, जब अर्शदीप की गेंद पर मिडऑफ के ऊपर से मारने की कोशिश में संजू दीपक हूडा के हाथों लपके गए. 

लेकिन एक बात पूरी तरह से साफ है कि अगर केएल राहुल बड़ी चूक न करते, तो पंजाब बहुत पहले ही यह मुकाबला जीत जाता. दरअसल पारी के तीसरे ही ओवर में अर्शदीप ने नमन वोरा को चलता कर दिया था. और एक गेंद बाद ही केएल राहुल ने संजू सैमसन का इतना आसान कैच विकेट के पीछे छोड़ दिया, जिसे वह शायद दस में से एक बार ही छोड़ें. और शायद यह चूक उनसे मानो इसी मैच में होनी थी. संजू सैमसन तब सिर्फ मात्र 12 रन पर थे. और इसका पूर फायदा उठाते हुए संजू ने 107 रन बनाकर राजस्थान को मुकाबले में लाते हुए लगभग मैच अपनी टीम के नाम करा दिया. बस आखिरी ही गेंद पर संजू अनलकी रहे कि शॉट को उसकी मंजिल तक नहीं पहुंचा सके. अगर राजस्थान यह मैच जीत जाता, तो शायद यह आईपीएल के इतिहास की सर्वश्रेष्ठ जीत होती, लेकिन ऐसा नहीं ही हुआ. बहरहाल,  संजू सैमसन को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

SCORE BOARD

पावर-प्ले (शुरू के 6 ओवर):  पावर पस्त, पंजाब मस्त 

जब सिर पर बोझ 222 रन का हो, तो दुनिया के सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर कहे जाने वाले हेन स्टोक्स की बॉडी लैंग्वेज भी निस्तेज हो जाती है. दिमाग काम नहीं करता कि डिफेंस करें या अटैक. कुछ ऐसा ही स्टोक्स के साथ हुआ और शमी ने इसी उधेड़पुन में उन्हें पहले ही ओवर में चलता कर दिया, तो लेफ्टी अर्शदीप के चौथे ओवर में दूसरे ओपनर मनन वोरा भी लौट गए. राजस्थानी कप्तान संजू सैमसन भी इसी ओवर में चले जाते, अगर केएल राहुल एक बहुत ही आसान कैच न टपका देते. अगले दो-तीन ओवर में जोस बटलर और संजू सैमसन ने कुछ बाउंड्री जड़ीं और पावर-प्ले में स्कोर को 2 विकेट पर 59 रन तक पहुंचा दिया. लक्ष्य 222 के लिए जरूरी पावर रन के हिसाब से ठीक-ठाक दिखायी तो पड़ी, लेकिन दो विकेट गंवाने से कुल मिलाकर यह पस्त हो गयी. 
 

इससे पहले पंजाब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए  राजस्थान का गेंदबाजों का बुरी तरह बैंड बजाते हुए उसके सामने जीत के लिए 222 का रॉयल टारगेट रखा है. पंजाब की शुरुआत ज्यादा अच्छी नहीं रही थी और मयंक अग्रवाल जल्द ही आउट हो गए, लेकिन इसके बाद क्रिस गेल दूसरे विकेट के रूप में क्रिस गेल (40) तब आउट हुए, जब लग रहा था कि वह एक बड़ा धमाका करने जा रहे हैं, लेकिन युवा रियान पराग ने रणनीति को अंजाम देते हुए गेल को अपने जाल में फंसा ही लिया. लेकिन नए बल्लेबाज दीपक हूडा (64 रन, 28 गेंद, 4 चौके, 6 छक्के) ने धमाकेदार अंदाज में सभी को चौंकाते हुए सिर्फ 20 गेदों पर अर्द्धशतक जड़ डाला. राजस्थान के गेंदबाजों पर दीपक मानो कोविड की तरह टूट पड़े. दीपक हूडा ने पारी के बीच में अपने प्रचंड प्रहारों से मैच का रुख ही बदल दिया. दीपक ने सिर्फ 20 गेंदों पर 1 चौके और 6 छक्कों से ही पचासा जड़ डाला था. और इस मिले फायदे को दोनों हाथों से भुनाया कप्तान केएल राहुल (91 रन, 50 गेंद, 7चौके, 5 छक्के) ने जो शतक से चूक गए! लेकिन यह इन दोनों बल्लेबाजों का असर रहा कि पंजाब किंग्स कोटे के 20 ओवरों में छह विकेट पर 221 रनों के ऐसे स्कोर तक पहुंचने में सफल रहे, जो राजस्थानी बल्लेबाजों की मनोदशा पर मैदान पर उतरने से पहले ही प्रहार जरूर करेगा. राजस्थान के लिए सबसे ज्यादा तीन विकेट पहला मैच खेल रहे चेतन सकारिया ने लिए.

हूडा ने घसीटा कम, मारा ज्यादा !

मानो इसी सोच के साथ मैनेजमेंट ने दीपक हूडा को निकोलस पूरन से पहले भेजा. और उतरते हुए हूडा ने राजस्थानी गेंदबाजों को हवा में मारना शुरू कर दिया और मैदान पर घसीटा कम! बल्ले से तूफान से छक्के ज्यादा निकले और चौके कम. कुल 4 चौकों और 6  छक्कों से सिर्फ 28 गेंदों पर ऐसी 64 रन की पारी खेल डाली, जिसने राजस्थान के फैंस के होश उड़ा दिए और हूडा की यह पारी कई दिनों तक फैंस को याद रहेगी.  और यह हूडा का दिया हुआ कॉन्फिडेंस था, जिससे पंजाब 221 के मजबूत स्कोर तक पहुंचने में सफल रहा. 

पराग के जाल में फंस गए गेल !
शुरुआत में गेल को गेल पाने में समय जरूर लगा,  लेकिन एक बार लय मिली, तो गेल ने दिखाना शुरू कर दिया कि उम्र  जरूर बढ़ रही है उनकी, लेकिन उनकी बल्लेबाजी किसी पुरानी शराब की तरह हो चली है! गेल के बल्ले से चिर-परिचित छक्के निकलने शुरू हो गए थे, लेकिन 10वां ओवर लेकर रियान पराग आए, तो अलग ही रणनीति देखन को मिली. मलिंगा की तरह राउंड-आर्म एक्शन, तो कभी कुछ. लेग स्पिन दिखाई, ऑफ स्पिन कर दी और गेल उड़ाने की कोशिश में पराग के जाल में फंस ही गए. जब लग रहा था कि उनकी 28 गेंदों पर 40 रन की पारी एक बड़ा रूप लेने जा रही है, रियान पराग के नए अंदाज ने गेल सहित सभी को चौंका दिया.

पावर-प्ले (शुरुआती 6 ओवर):  युवा सकारिया ने की पंजाब के प्लान पर चोट!

करियर का पहला मैच खेल रहे चेतन सकारिया पहले ही ओवर में अपने भटकाव से दो चौके खा गए, लेकिन पंजाब के ओपनरों केएल राहुल और मयंक अग्रवाल ने पावर-प्ले में कोई एक्स्ट्रा  पावर दिखाने की कोशिश नहीं की. लेकिन जल्द ही तीसरे ओवर में प्लान साफ होने लगा. एक छोर शांत करेगा, तो दूसरा प्रहार, लेकिन युवा सकारिया ने प्लान के उड़ान भरने से पहले ही मयंक (14) को आउट करके पंजाब के प्लान पर पानी फेर दिया.

नतीजा यह रहा कि राहुल और सतर्क और शांत हो गए. चौके बहुत ही शांति से इधर-उधर से बटोरे, गेल ने जरूर कुछ खामोश रहने के बाद मुस्तिफजुर के पांचवें ओवर में सिर के ऊपर से चौका जड़कर हाथ खोलने की कोशिश की, लेकिन छह ओवर खत्म होते-होते साबित हो गया कि गेल के हाथ खुलने में समय लगेगा, तो राहुल समय गुजरने के साथ ही आक्रामक होंगे. बहरहाल, चेतन सकारिया का मयंक को आउट करना काम कर गया और पंजाब के पावर-प्ले का प्लान उतना कामयाब नहीं रहा, जितना उसने शायद प्लान किया था. मौरिस के छठे ओवर में गेल ने मिडऑन के ऊपर से एक और चौका जड़कर कुछ अच्छे संकेत दिए. और पंजाब पावर-प्ले के 6 ओवर में 1 विकेट पर 46 रन बनाने में सफल रहा. लक्ष्य से थोड़े से कहीं ज्यादा पीछे रह गए !! मगर बाद में केएल राहुल ने भरपायी कर दी. 

फैंस की फेवरेट इलेवन में बॉस गेल की डिमांड टॉप पर, इन रिकॉर्डों पर नजर है यूनिवर्स बॉस की

इससे पहले राजस्थान ने टॉस जीतकर पहले बॉलिंग करने का फैसला किया.  चलिए  मुकाबले में खेलीं दोनों टीमों की फाइनल इलेवन पर नजर दौड़ा लीजिए: 

पंजाब किंग्स: केएल राहुल (कप्तान), मयंक अग्रवाल, क्रिस गेल, निकोल, पूरन, दीपक हूडा, शाहरुख खान, झाय रिचर्डसन, मुरुगन अश्विन, रिले मेरेडिथ, मोहम्मद शमी, अर्शदीप


राजस्थान रॉयल्स: संजू सैमसन (कप्तान), जोस बटलर, मनन वोरा, बेन स्टोक्स, रियान पराग, शिवम दुबे, राहुल तेवतिया, क्रिस मौरिस, श्रेयस गोपाल, चेतन सकारिया और मुस्तिफजुर रहमान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ महीने पहले हुयी नीलामी में कृष्णप्पा गौतम 9:25 करोड़ रुपये में बिके थे. ​