अर्जन नगवासवाला ने फैंस को चौंकाया, इस "साइलेंट परफॉरमेंस" ने इंग्लैंड दौरे में बनाया स्टैंड-बाय

इंग्लैंड दौरे के लिए घोषित टीम मे जिस नाम ने सबसे ज्यादा ध्यान प्रशंसकों का अपनी ओर खींचा, वह टीम में नहीं, बल्कि स्टैड बाय रखे गए चार में से एक खिलाड़ी थे गुजरात के अर्जन नगवासवाला. फैंस टीम के ऐलान के बाद एक-दूसरे से सवाल करते नजरे आए कि आखिर ये अर्जन नगवासवाला (Arzan Nagwaswalla) कौन हैं?

अर्जन नगवासवाला ने फैंस को चौंकाया, इस

अर्जन नगवासवाल को लेकर जोर-शोर से चर्चा है

नई दिल्ली:

शुक्रवार को इंग्लैंड के चार महीने के लंबे दौरे के लिए भारतीय टेस्ट टीम का ऐलान हुआ, तो कई बातों ने फैंस को बहुत ही ज्यादा चौंका दिया. उदाहरण के तौर पर पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) और भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) का टीम में चयन न होना, लेकिन जिस नाम ने सबसे ज्यादा ध्यान प्रशंसकों का अपनी ओर खींचा, वह टीम में नहीं, बल्कि स्टैड बाय रखे गए चार में से एक खिलाड़ी थे गुजरात के अर्जन नगवासवाला. फैंस टीम के ऐलान के बाद एक-दूसरे से सवाल करते नजरे आए कि आखिर ये अर्जन नगवासवाला (Arzan Nagwaswalla) कौन हैं? आपस में बातें होने लगीं, चर्चा होने लगी. जाहिर है कि हालिया समय में न इस खिलाड़ी का नाम घरेलू क्रिकेट के जरिए किसी न सुना क्योंकि रणजी ट्रॉफी का आयोजन पिछले साल नहीं ही हुआ, तो अर्जन नगवासवाला (Arzan Nagwaswalla) को किसी आईपीएल टीम ने भी नहीं खरीदा है. वहीं, एक बड़ी वजह  और भी है कि अर्जन सोशल मीडिया पर बमुश्किल ही नजर आते हैं.

बहरहाल, घरेलू क्रिकेट में गुजरात के लिए खेलने वाला इस 23 साल के लेफ्टी मीडियम पेसर ने अगर स्टैंड बाय खिलाड़ी के रूप में जगह बनायी है, तो जरूर उन्होंने कुछ तो ऐसा जरूर किया होगा, जिससे राष्ट्रीय चयन समिति ने उन्हें चार आरक्षित खिलाड़ियों में जगह दी. चलिए बताते हैं कि क्यों अनजान अर्जन नगवासवाला इंग्लैंड दौरे के लिए स्टैंड बाय खिलाड़ियों में जगह बनाने में कामयाब रहे. 

दमदार प्रथम श्रेणी रिकॉर्ड
साल 2018 में रणजी ट्रॉफी करियर का आगाज करने वाले अर्जन ने पिछले साल तक गुजरात के लिए अभी तक सिर्फ 16 मैच खेले हैं, लेकिन इन मुकाबलो में अर्जन ने 62 विकेट चटकाए हैं. मतलब प्रत्येक पारी में करीब दो विकेट. पारी में चार विकेट उन्होंने चार बार और पांच विकेट भी इतनी ही बार चटकाए, जबकि मैच में दस विकेट लेने का कारनामा अर्जन ने एक बार किया. और इन विकेटों की गूंज लगाकार सेलेक्टरों के कानों तक पहुंचती रही. 

विजय हजारे में भी दिखाया दम
पिछले दिनों खेली गई पचास ओवरों की राष्ट्रीय ट्रॉफी में अर्जन ने दिखाया कि वह सफेद गेंद के साथ भी एकदम मारक हैं. वह गुजरात के लिए सबसे सफल गेंदबाज रहे. अर्जन ने 7 ओवरों में फेंके 61.2 ओवरों में गुजरात के लिए सबसे ज्यादा 19 विकेट लिए. वहीं, वह टूर्नामेंट में उत्तर प्रदेश के शिवम शर्मा (21) विकेट के बाद दूसरे सबसे सफल बॉलर रहे थे. 

मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी रही धूम
यह लेफ्टी बॉलर गुजरात के लिए टी20 राष्ट्रीय ट्रॉफी में 5 मैच खेला और गुजरात के लिए फेके 15.3 ओवरों में अपनी टीम के लिए सबसे ज्यादा 9 विकेट लिए. इसमें उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 19 रन देकर 6 विकेट लेना था. वास्तव में यह टूर्नामेंट में किसी भी बॉलर का सर्वश्रेठ प्रदर्शन रहा, जो उन्होंने महराष्ट्र के खिलाफ किया. 


VIDEO: कुछ दिन पहले हुयी मिनी ऑक्शन में कृष्णप्पा गौतम 9.25 करोड़ रुपये में बिके थे. ​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वास्तव में अर्जन नगवासवाला का तीनों संस्करणों में प्रदर्शन कोविड-19 काल में ज्यादा मीडया कवरेज न होने के कारण छिप गया, लेकिन उनकी यह "साइलेंट परफॉरमेंस" करोडों सैलरी पाने वाली राष्ट्रीय चयन समिति की निगाह से नहीं बच सकी और इस लेफ्टी को उनके प्रदर्शन का इनाम दिया गया. और अगर हालात उन्हें इ्ंग्लैंड दौरे का टिकट दिला देते हैं, तो चौंकाने वाली बात बिल्कुल भी नहीं होगी.