Eng vs NZ 1st Test: एंडरसन की बेहतरीन गेंदबाजी के बावजूद फैंस के दिल में रह गयी कसक, वजह है एकदम साफ

ENG vs NZ 1st Test: लंबे समय बाद टेस्ट खेल रहे जेम्स एंडरसन ने 4 विकेट लेते हुए दिखाया कि अभी उनमें बहुत जान बाकी है!!

Eng vs NZ 1st Test: एंडरसन की बेहतरीन गेंदबाजी के बावजूद फैंस के दिल में रह गयी कसक, वजह है एकदम साफ

ENG vs NZ 1st Test: जेम्स एंडरसन ने पहली पारी में 4 विकेट लिए

खास बातें

  • पहली पारी में एंडरसन को मिले 4 विकेट
  • इंग्लैंड की पहली पारी 132 पर सिमटी
  • ...लेकिन पूरी नहीं हुई फैंस की चाह
नई दिल्ली:

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच लॉर्ड्स में शुरू हुए पहले टेस्ट मैच के पहले दिन मेजबान लीजेंड पेसर जेम्स एंडरसन (James Anderson) ने बेहतरीन गेंदबाजी का परिचय दिया. यह जिमी का ही असर था कि कीवी टीम अपनी पहली पारी में सिर्फ 132 रन पर ही ढेर हो गयी. और जिमी ने फेंके 16 ओवरों में 4 विकेट चटकाए. यह दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चटकाए गए चार विकेट के बाद पहला मौका था, जब एंडरसन ने इतनी उम्दा गेंदबाजी की, लेकिन उनके फैंस निराश हैं कि एडंरसन यहां पंजा जड़ने का मौका चूक गए. बेन स्टोक्स ने उनसे पांचवां विकेट चटकाने के लिए खासी गेंदबाजी आखिरी ओवरों में करायी, लेकिन कीवी पुछल्लों ने उन्हें पंजे से वंचित कर दिया. और जेम्स पांच विकेट लेते, तो यह पिछले साल लॉर्ड्स में भारत के खिलाफ चटकाए पांच विकेट के बाद दूसरा मौका होता. दरअसल जिमी के लिए पंजे का महत्व इसलिए ज्यादा हो चला है कि उनके निशाने पर कई बॉलर हैं. 

यह भी पढ़ें:"ऑय एम जेम्स...जेम्स पोट्स", पहले ही टेस्ट में तूफानी अंदाज में परिचय दिया इंग्लिश पेसर ने, video

फिलहाल सबसे ज्यादा पंजे जड़ने के मामले में टेस्ट इतिहास में मुथैया मुरलीधरन (67) सबसे ऊपर हैं और श्रीलंकाई ऑफी के इस रिकॉर्ड को तोड़ना किसी के लिए भी बहुत ही ज्यादा मुश्किल है. वहीं, इस मामले में जेम्स का नंबर छठा है और उनके चाहने वाले उन्हें तेजी से उन्हें उनके ऊपर बैठे चार दिग्गजों के रिकॉर्ड पर पानी फेरते देखना चाहते हैं. यही वजह है कि फैंस को उनके पंजे न जड़ने की खासी कसक दिल में रह गयी है. 


यह भी पढ़ें:  एंडरसन की लहराती स्विंग ने जीता गांगुली का दिल, टीवी से video बना पोस्ट किया सौरव ने

बता दें कि मुरली और नंबर दो शेन वॉर्न (37) के बीच लगभग दोगुने का अंतर है, तो वहीं उनके बाद तीसरे नंबर पर रिचर्ड हेडली (36), चौथे पर अनिल कुंबले ( 36) और श्रीलंका के रंगाना हेराथ (35) पांचवें नंबर पर हैं. जाहिर है कि अगर एंडरसन तोड़ा जोर और लगाते हैं, तो वह वॉर्न के रिकॉर्ड को भी तोड़ सकते हैं, लेकिन उसके लिए यहां से एंडरसन को सात बार और पांच-पांच विकेट लेने होंगे. पिछले दो मौकों पर एंडरसन की गाड़ी चार विकेट पर ही रुक गयी. यही वजह है कि बेहतरीन गेंदबाजी के बावजूद उनके चाहने वालों के दिल में कसक रह गयी 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



 
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)